Advertisement

jamshedpur

  • Aug 18 2019 3:09AM
Advertisement

रेलवे में नौकरी के नाम पर छात्रा से "2.38 लाख की ठगी

 सुपरवाइजर की नौकरी के लिए भेजा मेल, कुछ दिन में कॉल लेटर आने का दिया था झांसा

 
जमशेदपुर : रेलवे में सुपरवाइजर की नौकरी दिलाने के नाम पर छात्रा से 2.38 लाख रुपये की ठगी कर ली गयी है. साकची शिवमंदिर लाइन निवासी पायल धानुका ने साकची थाना में कोलकाता निवासी पालोमिता मन्ना और आर्यन देव के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. शिकायत के अनुसार 6 अगस्त को उनके घर पूर्व परिचित पॉलोमिता मन्ना और आर्यन देव आये और कहा कि रेलवे में सुपरवाइजर की एक नौकरी है. दोनों ने नौकरी के एवज में 3.38 लाख रुपये बतौर सिक्युरिटी जमा देने की बात कही. 
 
पायल के अनुसार वह उनके झांसे में आ गयी और नौकरी पाने की चाह में उसी दिन एचडीएफसी बैंक के खाते से बतौर अग्रिम राशि पालोमिता मन्ना के एचडीएफसी खाते में 2.38 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिये. रुपये ट्रांसफर होने के बाद दोनों चले गये. उसी शाम 7.35 बजे उन्हें मेल आया कि आप (पायल) एक मेधावी छात्रा हैं इसलिए आपका सीधा चयन कर लिया गया है और आपको 28 अगस्त 2019 को कॉल लेटर आयेगा. मेल के बाद पायल को पालोमिता मन्ना और आर्यन देव का लगातार फोन आना लगे.
 
वे लोग शेष एक लाख रुपये मांग रहे थे. दोनों का कहना था कि कॉल लेटर आने से पूर्व रुपये दे नहीं तो नौकरी में परेशानी हो सकती है.  शक होने पर जब पायल मेल मैसेज का पता लगाया तो वह फर्जी मिला. उन्हें यह पता चल गया कि इस तरह की कोई बहाली रेलवे में नहीं हुई है. इसके बाद पायल ने साकची थाना में एफआइआर दर्ज करायी.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement