Advertisement

jamshedpur

  • May 27 2019 1:28AM
Advertisement

फेसबुक पर विवादित पोस्ट करनेवाले प्रोफेसर को जेल

  •  ग्रेजुएट कॉलेज के बीएड विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर के तौर पढ़ा रहे थे हांसदा
  • मामला दर्ज होने के बाद उन्हें कॉलेज ने हटा दिया था
जमशेदपुर : दो साल पहले अपने फेसबुक पेज पर आपत्तिजनक पोस्ट लिखने वाले ग्रेजुएट कॉलेज के बीएड विभाग के पूर्व एसोसिएट प्रोफेसर जितराई हांसदा को साकची पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. रविवार को कोर्ट में प्रस्तुत कर उन्हें जेल भेज दिया गया.  मालूम हो 29 मई 2017 में जितराई ने बीफ पार्टी करने को लेकर फेसबुक पर एक पोस्ट किया था, जिसमें लिखा था कि मैं बीफ पार्टी देना चाहता हूं. मुझे कोई बतायेगा कि बीफ कहां मिलेगा. इस पोस्ट के बाद कॉलेज में विरोध शुरू हो गया और दो जून को उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया.
 
 मामला दर्ज होने के बाद से हांसदा फरार चल रहे थे. इसके बाद कॉलेज ने जितराई को हटा दिया था. जितराई की गिरफ्तारी साकची पुलिस ने शनिवार देर रात साकची के एक रेस्टोरेंट से की. फिलहाल पिछले पांच महीने से जमशेदपुर को-ऑपरेटिव बीएड कॉलेज में पढ़ा रहे थे.
 
प्रोफेसर जितराई हांसदा ने 29 मई 2017 को डाला था विवादित पोस्ट: आदिवासियों में अंतिम संस्कार और विभिन्न त्योहारों के दौरान गोमांस खाया जाता है, तो क्या हम भारत के कानून की वजह से अपना खान-पान और पारंपरिक अनुष्ठान बंद कर दें? और हिंदू बन कर रहें? ये कभी नहीं हो सकता. 
 
हम हिंदुस्तान के ऐसे कानून का विरोध करते हैं. हिन्दुस्तानी कानून निर्माताओं को ये भी बता दूं कि भारत के राष्ट्रीय पक्षी मोर को भी खाया जाता है. यदि सही मायने में आदिवासियों को भारत का हिस्सा मानते हो, तो आदिवासियों के हितों की भी रक्षा करते हुए ऐसा कानून बनाना बंद करो. प्रोफेसर ने अपनी आजादी पर भी सवाल उठाते हुए फेसबुक पोस्टस लिखे थे.
 
वर्ष 2017 में फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट करने के खिलाफ दर्ज मामले में आरोपी जितराई हांसदा फरार चल रहे थे. शनिवार रात उन्हें साकची के एक होटल से गिरफ्तार किया गया है. जितराई की गिरफ्तारी को लेकर कोर्ट से नोटिस निकाला गया था.
राजीव कुमार सिंह, थाना प्रभारी, साकची.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement