Advertisement

jamshedpur

  • Apr 20 2019 2:06AM
Advertisement

नगरीय समूह में शामिल क्षेत्र को 2021 की जनगणना से बाहर न निकाला जाये

 जमशेदपुर : जनगणना निदेशालय द्वारा 2021 की जनगणना की तैयारी शुरू कर दी गयी है. निदेशालय के संयुक्त निदेशक प्रियतोष अमिष्ट ने जिला प्रशासन अौर नगर निकायों के विशेष पदाधिकारी से जनगणना 2021 के लिए नगरों के बाह्य विकासों का चयन तथा नगरीय समूह की सीमांकन रिपोर्ट मांगी है. इस संबंध में निदेशक डॉ मनीष रंजन ने जिला प्रशासन को दिशा-निर्देश देते हुए उसके अनुसार काम करने को कहा है.

जारी दिशा-निर्देश में कहा है कि 2011 जनगणना के आंकड़ों के साथ तुलनात्मक बनाये रखने के लिए यह सुनिश्चित करना होगा कि 2011 के नगरीय समूह में शामिल किये गये किसी क्षेत्र को 2021 की जनगणना के लिए अब नगरीय समूह से बाहर न निकाला जाये, बशर्ते ऐसा क्षेत्र अब भी सटा हो. जनगणना निदेशालय ने कहा है कि 2021 की जनगणना की तैयारी प्रगति पर है अौर शुरू में ग्रामीण अौर नगरीय क्षेत्रों का वर्गीकरण किया जा रहा है.

नगरों की श्रेणी में राज्य के सभी नगर निगम, नगर पालिका, नगर परिषद, नगर पंचायत, अक्षेस एवं केंटोनमेंट बोर्ड होते हैं. इसके अतिरिक्त जिन ग्रामों की न्यूनतम जनसंख्या पांच हजार व्यक्तियों की हो, पुरुष दीर्घकालिक कर्मियों की जनसंख्या में से 75 प्रतिशत एवं अधिक, पुरुष-गैर कृषि कार्य में लगे हुए हों तथा जनसंख्या का घनत्व कम से कम चार सौ व्यक्ति प्रति वर्ग किमी (एक हजार व्यक्ति प्रति वर्गमील) हो को भी जनगणना में शहर मान कर नगरों की श्रेणी में रखा जाता है. 2021 जनगणना के लिए नगरीय क्षेत्र के अंतर्गत नगरों के बाह्य विकास का चयन एवं नगरीय समूह का सीमांकन किया जाना है. 

 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement