Advertisement

jamshedpur

  • Feb 11 2019 6:51AM
Advertisement

जमशेदपुर : ट्रेन के ऑयल टैंकर पर सेल्फी लेेने चढ़े थे, एक जिंदा जला, दोस्त गंभीर

जमशेदपुर  :  ट्रेन के ऑयल टैंकर पर सेल्फी लेेने चढ़े थे, एक जिंदा जला, दोस्त गंभीर

 जमशेदपुर  : सलगाझुड़ी रेलवे फाटक के समीप खड़ी ट्रेन के ऑयल टैंकर पर सेल्फी लेेने चढ़े मो फैजल (14) की हाइटेंशन तार की चपेट में आने से मौत हो गयी. साथ में मौजूद उसका दोस्त नावेद अख्तर (12) गंभीर रूप से झुलस गया. 63 फीसदी जल चुके नावेद को टीएमएच के बीसीयू में भर्ती कराया गया है.

 

दोनों का घर मकदमपुर नया मस्जिद के समीप है. घटना रविवार दिन के करीब 1.30 बजे की है. मो फैजल का शव लगभग दो घंटे तक टैंकर के ऊपर ही पड़ा रहा. करीब 3.30 बजे रेल पुलिस ने आकर शव उतारा. इसके बाद सेक्शन पर रेल परिचालन शुरू हो पाया. इस मामले में अस्वाभाविक मौत का मामला जीआरपी थाने में दर्ज हुआ है.
 
दोनों के शरीर में लग गयी आग 
  •  प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, ऑयल टैंकर ट्रेन टाटा से खड़गपुर की ओर जा रही थी.     
  • टाटा से खड़गपुर की ओर जा रही ट्रेन सिग्नल नहीं मिलने के कारण खड़ी थी
  • दोनों युवक मकदमपुर नया मस्जिद के समीप के 
  • मौके पर ही हो गयी मो फैजल की मौत, दो घंटे टैंकर पर ही पड़ा रहा शव 
  • गंभीर रूप से घायल नावेद अख्तर टीएमएच में भर्ती, 63 फीसदी जला 
 
ट्रेनें रोकी गयी 
घटना के कारण दो मालगाड़ी व खड़गपुर पैसेंजर को दो घंटे और इस्पात  एक्सप्रेस को 35 मिनट तक रोका गया
 
चौंकानेवाले हैं आंकड़े 
दुनिया में सेल्फी लेने के चक्कर में होनेवाली मौतों में 50 फीसदी भारत में होती है. इनमें 85 प्रतिशत 18 से 24 साल के युवा हैं 
एक अध्ययन के अनुसार, 2011 से  2018 के बीच सेल्फी लेने के कारण दुनिया भर में करीब 260 से अधिक लोगों की मौत हुई है. इनमें  160 से अधिक लोगों की मौत भारत में हो चुकी है. 
 
प्रभात खबर की अपील 
खतरनाक जगहों जैसे नदी, सड़क, नाव, पहाड़ के अलावा जानवरों , ट्रेनों और चलती वाहनों के साथ सेल्फी लेने से बचें 
बहुत ऊंचाई या छत पर किनारे खड़े होकर या किसी भी खतरेवाली जगह से सेल्फी न लें.
 
ऑयल  टैंकर ट्रेन में सेल्फी लेने के लिए चढ़े दो युवक हाई वोल्टेज तार की चपेट  में आकर बुरी तरह से झुलस गये. एक ही मौत घटना स्थल पर ही हो गयी. 
-एमके सिंह, आरपीएफ इंस्पेक्टर
 
तीसरे लड़के की हो रही थी खोज
लोगों ने बताया, दोनों  लड़कों के साथ एक और छोटा सा बच्चा था, जो लाइन के किनारे खड़ा था. घटना के  बाद डर से वह भाग गया. उसने इसकी जानकारी बस्ती के लोगों को दी. इसके बाद  बस्ती से अंजुमन कमेटी के अध्यक्ष मो सिकंदर, रहीम आदि वहां पहुंचे. टैंकर के ऊपर गिरा शव इतना झुलस गया था कि नीचे आने के बाद ही उसकी पहचान हो सकी.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement