Advertisement

Industry

  • Jul 11 2019 4:08PM
Advertisement

'रोजाना नये रिकॉर्ड बना रहा है इंडियन रेलवे, सारे लक्ष्यों को पूरा करेगी मोदी सरकार'

'रोजाना नये रिकॉर्ड बना रहा है इंडियन रेलवे, सारे लक्ष्यों को पूरा करेगी मोदी सरकार'

नयी दिल्ली : भाजपा ने गुरुवार को लोकसभा में कहा कि रेलवे रोजाना नये प्रतिमान और कीर्तिमान गढ़ रहा है और पिछले पांच साल में साफ-सफाई, सुगमता, सुविधाएं, समय की बचत और सुरक्षा आदि हर क्षेत्र में सुधार हुआ है और अब हमारा जोर रेलवे में वित्तीय अनुशासन लाना है.

लोकसभा में वर्ष 2019-20 के लिए रेल मंत्रालय के नियंत्रणाधीन अनुदानों की मांगों पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए भाजपा के सुनील कुमार सिंह ने कहा कि रेलवे पहले से कहीं अधिक सुव्यवस्थित है और इसमें साफ-सफाई, सुगमता, सुविधाएं, समय की बचत और सुरक्षा आदि हर क्षेत्र में सुधार हो रहा है. अब सरकार का उद्देश्य रेलवे में वित्तीय अनुशासन लाना है.

उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे रोजाना नये प्रतिमान और कीर्तिमान गढ़ रहा है. सरकार ने लगातार रेलवे के विस्तार के लिए काम किया है और जो लक्ष्य निर्धारित किये हैं, उन्हें पूरा भी किया जायेगा. सिंह ने पूर्ववर्ती यूपीए सरकार पर रेल बजटों में तमाम घोषणाएं और नयी रेल लाइनों के शुरू करने का ऐलान करने, लेकिन उन्हें पूरा नहीं करने का आरोप लगाया.

उन्होंने आरोप लगाया कि यूपीए के समय किये गये वादों का 10 फीसदी भी काम नहीं किया गया. सिंह ने कहा कि कांग्रेस नीत सरकार के समय रेल बजट दबाव समूहों के प्रभाव में पेश किये जाते थे, लेकिन मोदी सरकार ने रेलवे को मुख्यधारा में शामिल करने के लिए इसे आम बजट में शामिल किया और सरकार देश के लिए बजट पेश करती है.

भाजपा सांसद ने कहा कि 2009-14 में जहां रेलवे का पूंजी परिव्यय 2.3 लाख करोड़ था, वह 2014-19 में 4.97 लाख करोड़ रुपये हो गया. उन्होंने कहा कि इस साल के बजट में पूंजी व्यय 1.6 लाख करोड़ रुपये प्राप्त करने का लक्ष्य रखा गया है, जो यूपीए सरकार के पहले पांच साल (2004-09) के कार्यकाल में रहे 1.25 लाख करोड़ रुपये के पूंजी व्यय से भी ज्यादा है.

सिंह ने कहा कि इस बजट में रेलवे में यात्री सुविधाओं, साफ-सफाई, सुरक्षा और खानपान के साथ ही विभिन्न मदों में बजट बढ़ाया गया है. उन्होंने कहा कि रेलवे के क्षेत्र में कुछ काम इस सरकार में पहली बार हुए हैं, जिनमें रेल दुर्घटनाओं में पिछले पांच साल में 73 फीसदी की कमी लाना उल्लेखनीय है. सिंह ने कहा कि देश ने वंदे भारत एक्सप्रेस के रूप में पहली बार स्वदेशी तकनीक आधारित सेम-हाईस्पीड ट्रेन चलायी.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement