Advertisement

hazaribagh

  • Oct 16 2019 3:07PM
Advertisement

Hazaribagh : पासिंग आउट परेड में बोले रघुवर दास, कानून व्यवस्था को दें प्राथमिकता, जाति-धर्म से ऊपर उठ कर करें काम

Hazaribagh : पासिंग आउट परेड में बोले रघुवर दास, कानून व्यवस्था को दें प्राथमिकता, जाति-धर्म से ऊपर उठ कर करें काम

रांची/हजारीबाग : झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने पुलिस में बहाल हुए नये अधिकारियों से कहा है कि वे कानून-व्यवस्था को प्राथमिकता दें. जाति और धर्म से ऊपर उठकर काम करें. मुख्यमंत्री ने 1170 पुलिस अवर निरीक्षकों की भर्ती को अपने पांच साल के कार्यकाल की सबसे बड़ी उपलब्धियों में एक बताया. वह हजारीबाग में बुधवार को पुलिस पदाधिकारियों की पासिंग आउट परेड को संबोधित कर रहे थे.

इस दौरान उन्होंने कहा कि झारखंड राज्य कर्मचारी चयन आयोग (जेपीएससी) ने पुलिस अवर निरीक्षकों की बहाली पारदर्शी, भ्रष्टाचार मुक्त एवं विवादरहित तरीके से की है. यह वर्तमान सरकार की भ्रष्टाचार मुक्त व पारदर्शी शासन का एक शानदार उदाहरण है. उन्होंने कहा कि ढाई हजार पुलिस अवर निरीक्षकों की नियुक्ति हुई है, जिसमें गरीब, किसान, मजदूर, छोटे व्यवसायी, अल्पसंख्यक समुदाय एवं जनजातीय समुदाय के बच्चे शामिल हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि इन सभी लोगों ने अपनी प्रतिभा के बल पर पुलिस पदाधिकारी की नौकरी पायी है. बिना किसी पैरवी के. इसके लिए मुख्यमंत्री ने बहाली प्रक्रिया में लगे सभी कर्मचारियों और पदाधिकारियों का आभार प्रकट किया. वहीं, सभी नवनियुक्त पुलिस अवर निरीक्षकों को झारखंड पुलिस पदाधिकारी के रूप में नियुक्त होने पर बधाई भी दी.

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘आप से अपेक्षा की जाती है कि आप जनता के साथ अपना मधुर संबंध बनायेंगे और समाज की सेवा पूरी ईमानदारी से करेंगे. हर परिस्थिति में धैर्यपूर्वक जनता के साथ खड़े रहेंगे. जनता का विश्वास हासिल करेंगे.’ सीएम ने कहा कि राज्य को भयमुक्त व उग्रवाद मुक्त बनाने में अपनी महती भूमिका निभाते हुए झारखंड को देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने में योगदान दें.

मुख्यमंत्री ने कहा कि भयमुक्त, उग्रवाद मुक्त एवं भ्रष्टाचार मुक्त राज्य बनाना सरकार की प्राथमिकता है. नवनियुक्त पुलिस पदाधिकारी जनता के साथ मित्रवत व्यवहार स्थापित कर इस सपना को साकार कर सकते हैं. उन्होंने आश्वासन दिया कि राज्य के सभी पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों को उच्चतम एवं आधुनिकतम सुविधाओं से लैस किया जायेगा. वर्ष 2018-19 बैच के अवर निरीक्षकों की तरह ही पुलिस विभाग के सभी विंग को ऐसी गुणवत्तापूर्ण एवं पेशेवर तरीके से प्रशिक्षित किया जा सके.

हम गरीब और लाचार के सेवक : पुलिस महानिदेशक

पुलिस महानिदेशक कमल नयन चौबे ने इस अवसर पर कहा कि आबादी के अनुरूप पुलिसकर्मियों की जरूरत होती है. 11 हजार सिपाहियों और 5 हजार से अधिक पुलिसकर्मियों की नियुक्ति एक सकारात्मक पहल है. मुझे उम्मीद है कि जिस प्रकार पुलिसकर्मियों की नियुक्ति हुई है, वह बदलाव लाने में सहायक होगा. उन्होंने कहा कि गुलाम और स्वतंत्र देश में पुलिस की भूमिका अलग-अलग होती है.

पुलिस महानिदेशक ने कहा, ‘हम गरीब और लाचार लोगों के सेवक हैं. आज अपराध नियंत्रण बुनियादी जरूरत है. राज्य में नक्सलवाद आज अंतिम सांसें गिन रहा है. हम आधुनिक तकनीक से लैस हैं. आप सभी प्रशिक्षु पुलिस अवर निरीक्षक राज्य में विधि व्यवस्था को और सुदृढ़ करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेंगे. ऐसी उम्मीद है.’

झारखंड पुलिस अकादमी, हजारीबाग के निदेशक टी कंडास्वामी ने आकर्षक परेड को कर्तव्य एवं सत्यनिष्ठा की शपथ दिलायी. इस अवसर पर हजारीबाग के सांसद जयंत सिन्हा, सदर विधायक मनीष जायसवाल, अपर पुलिस महानिदेशक अनिल पालटा, हजारीबाग प्रमंडल के आयुक्त अरविंद कुमार, आरक्षी उप महानिरीक्षण पंकज कम्बोज, उपायुक्त डाॅ भुवनेश प्रताप सिंह, पुलिस अधीक्षक मयूर पटेल मौजूद थे. बड़ी संख्या में पुलिस के वरीय पदाधिकारीगण एवं सेवानिवृत्त पदाधिकारीगणों के अलावा नवनियुक्त पुलिस अवर निरीक्षकों के परिजन व गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement