Advertisement

hazaribagh

  • Apr 16 2019 6:56AM

हजारीबाग में पूजा समिति के सदस्य की हत्या, उग्र लोगों ने आरोपी का घर फूंका

हजारीबाग में पूजा समिति के सदस्य की हत्या, उग्र लोगों ने आरोपी का घर फूंका
मृतक के भाई ने अमर सिंह व उसके साथियों पर हत्या का आरोप लगाते हुए करायी प्राथमिकी
हजारीबाग : रामनवमी दशमी जुलूस में सार्वजनिक रामनवमी पूजा समिति (कोर्रा) के सदस्य विक्की नाथ की चाकू से घोंप  कर हत्या कर दी गयी. यह घटना सोमवार  सुबह पांच बजे के करीब मटवारी बैंक ऑफ इंडिया के पास घटी, जब  कोर्रा का जुलूस हजारीबाग मेन रोड की ओर आ रहा था. इस बीच अमर सिंह (जबड़ा रोड निवासी) व उसके साथियों ने विक्की नाथ को पास की गली में ले जाकर छाती व चेहरा पर चाकू से वार कर दिया, जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गयी. 
 
घटना के विरोध में विक्की नाथ के समर्थकों ने अमर सिंह के घर में आग लगा दी, जिसमें  कई  सामान जल गये. बाद में दमकल की सहायता से  आग पर काबू पाया गया. 
 
वहीं, हत्या के विरोध में मृतक के परिजन व मुहल्ले के लोग चार घंटे तक हजारीबाग-विष्णुगढ़ मार्ग कोर्रा चौक के पास जाम कर दिया. दोषियों को फांसी की सजा व सभी आरोपियों को गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे. बाद में कोर्रा पुलिस ने आरोपी अमर सिंह को गिरफ्तार किया. इसके बाद लोगों ने जाम हटाया. मृतक के भाई ने अमर सिंह व उसके साथियों पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज करायी है. पेशे से टेंपो चालक  विक्की नाथ(पिता- रोशन उरांव), कोर्रा घासीटोला का रहनेवाला था.  
 
थाना प्रभारी ने कहा: कोर्रा जुलूस में चल रहे विक्की नाथ को अमर सिंह व उसके साथियों ने पास की गली में ले जाकर चाकू से वार किया है. यह घटना आपसी रंजिश में हुई है.
 
मृतक के परिजनों ने बताया: मृतक के भाई नीतेश नाथ ने बताया कि अमर सिंह का उसके भाई विक्की नाथ के बीच पिछले रामनवमी से रंजिश चल रहा था. इस बार भी  कोर्रा से निकले दशमी जुलूस में मेरा भाई विक्की  और अमर के बीच कहासुनी हुई . जुलूस मटवारी पेट्रोल पंप के समीप जैसे ही पहुंचा. अमर व उसके साथियों ने विक्की के सीने में चाकू घोंप दिया.  उसने कहा कि  अमर के साथी अनु गुप्ता, पंकज गुप्ता, प्रताप सिंह भी इस घटना में   शामिल थे.  
 
विभिन्न अखाड़ों के 1200 से अधिक लोग घायल 
 
हजारीबाग : रामनवमी दशमी जुलूस में विभिन्न अखाड़ों द्वारा लाठी, भाला, तलवार, मूगदर व अस्त्र-शस्त्र के करतब दिखाते 1200 से अधिक लोग घायल हो गये. इसमें 150 लोग गंभीर रूप से घायल हुए है. तीन लोगों को रांची रेफर किया गया है. 14 लोगों का इलाज गहन चिकित्सा कक्ष में हो रहा है. सदर अस्पताल आंकड़े के अनुसार 850 लोगों का इलाज कर रजिस्टर में नाम दर्ज किया गया, जबकि प्राथमिक उपचार कर कई लोग चले गये.  
 

Advertisement

Comments

Advertisement