Advertisement

hazaribagh

  • Aug 23 2019 7:35PM
Advertisement

बाराचट्टी में दहेज लोभियों की बलि चढ़ी चौपारण की बेटी देवंती, दो बच्चों के सिर से उठा मां का साया

बाराचट्टी में दहेज लोभियों की बलि चढ़ी चौपारण की बेटी देवंती, दो बच्चों के सिर से उठा मां का साया

चौपारण : सरकार या समाज के अग्रणी लोगों के लाख प्रयास के बावजूद भी दहेज को लेकर विवाहित महिलाओं की हत्या का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है. एक ऐसे ही सनसनीखेज हत्या का मामला शुक्रवार को प्रकाश में आया है. जहां चौपारण के हथिन्दर गांव की बेटी देवंती देवी (25 वर्ष), पति- भोला प्रजापती की हत्या बाराचट्टी के रटनी गांव में दहेज लोभी ससुराल वालों ने मिलकर कर दी. देवंती दो बच्चे की मां थी. 

 

घटना की सूचना पाकर जब मायके वाले वहां पहुंचे तो देखा कि उनकी बेटी का शव आंगन में पड़ा है और ससुराल वाले फरार हैं. घटना के संबंध में मृतिका के पिता घमन प्रजापती ने बाराचट्टी थाना को लिखित सूचना दी. सूचना के बाद पुलिस ने देवंती के शव को बरामद कर पोस्‍टमार्टम के लिए गया भेज दिया.  

 

घमन ने बताया कि देवंती के शादी 12 मई 2014 को हिंदू रीति रिवाज से लखन प्रजापती के पुत्र भोला प्रजापती के साथ हुआ था. शादी के समय घमन ने अपने औकात के मुताविक दान दहेज भी दिया था. शादी के कुछ ही दिन बीते थे कि देवंती के ससुराल वाले दहेज में और पैसे एवं बाईक की मांग को लेकर मेरी बेटी को पताडि़त करने लगे. 

 

मामला को सुलझाने के लिए कई बार पंचायत भी बैठी थी. लेकिन वे लोग अपनी हरकतों से बाज नहीं आए और मेरी बेटी को उसके ससुर लखन प्रजापती ने सास, ननद एवं उसके पति भोला प्रजापती के साथ मिलकर गला घोंटकर देवंती की हत्या कर दी. 

 

बच्चों के सर से उठा मां का साया 

देवंती की हत्या के बाद उनके दो बच्चे आयुष कुमार (5 वर्ष) एवं आर्यन कुमार (2 वर्ष) के सिर से सदा के लिए मां की ममता का साया उठ गया. आंगन में पड़े मां के शव एवं रोते बिलखते लोगों को देख दोनों बच्चे रो रहे थे. बच्‍चे आंगन में पड़ा मां का शव एवं बिलखते लोगों को टकटकी लगाकर देख रहे थे. भला उन बच्चों को क्या मालूम कि उनके सिर से मां की ममता का साया उठ गया है. आवेदक घमन प्रजापती ने देवंती के हत्यारों को गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग की है. 

Advertisement

Comments

Advertisement

Other Story

Advertisement