Advertisement

gumla

  • Aug 21 2019 6:56PM
Advertisement

कस्तूरबा गांधी विद्यालय की मनमानी : नामांकन के लिए 5 महीने से दर-ब-दर भटक रही दुष्कर्म पीड़िता

कस्तूरबा गांधी विद्यालय की मनमानी : नामांकन के लिए 5 महीने से दर-ब-दर भटक रही दुष्कर्म पीड़िता
photo pk

।। दुर्जय पासवान ।।

गुमला : दुष्कर्म की शिकार सिसई प्रखंड की दो सगी बहनें कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय स्कूल में नामांकन के लिए पांच महीने से स्कूल का चक्कर काट रही हैं. लेकिन अभी तक नामांकन नहीं हुआ है.

दोनों बहनें परेशान हैं, जबकि जिला शिक्षा पदाधिकारी सह झारखंड शिक्षा परियोजना गुमला के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सुरेंद्र पांडेय ने दो अप्रैल 2019 को ही दोनों बहनों का कस्तूरबा स्कूल में नामांकन करने का लिखित आदेश जारी किये हैं.

दोनों बहनों में एक छात्रा का वर्ग आठवीं व दूसरी छात्रा का वर्ग छह में नामांकन करने का आदेश है. परंतु सिसई प्रखंड के कस्तूरबा स्कूल में दोनों बहनों का अभी तक नामांकन नहीं हुआ है. छात्रा ने बताया कि वह रिश्तेदारों के साथ कई बार स्कूल गयी. परंतु उसे हर समय यह कहकर वापस लौटा दिया गया कि अभी इंतजार करो. यहां तक कि इसकी जानकारी वरीय अधिकारियों को भी दी गयी. सभी ने नामांकन करने का आदेश दिया है. फिर भी नामांकन करने से कस्तूरबा स्कूल इंकार कर रहा है.

धवार को छात्रा अपनी मां के साथ गुमला के अधिकारियों को दुखड़ा सुनाने गुमला आयी थी. दोनों बहनों ने बताया वो पढ़ना चाहती हैं. उन्‍होंने जिला विधिक सेवा प्राधिकार (डालसा) के सचिव के पास पढ़ने की इच्छा प्रकट की थी. इसके बाद डालसा सचिव ने डीइओ को पत्र लिखकर दोनों छात्राओं का नामांकन करने के लिए कहा था. इसपर डीइओ ने सिसई प्रखंड के कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय स्कूल को पत्र लिखकर नामांकन लेने का आदेश जारी किया है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement