Advertisement

gumla

  • Jan 9 2019 5:43PM

गुमला : वृद्ध महिला की ठंड से मौत, रातभर शव से लिपटी रही तीन साल की पोती

गुमला : वृद्ध महिला की ठंड से मौत, रातभर शव से लिपटी रही तीन साल की पोती
photo pk

।। दुर्जय पासवान ।।

गुमला : गुमला जिला स्थित भरनो ब्लॉक के मलगो गांव के रास्ते में ठंड लगने से बेड़ो निवासी सुमित्रा देवी (55) की मौत हो गयी. सुमित्रा के साथ उसकी तीन साल की पोती भी थी. जब सुमित्रा की मौत हुई तो बच्ची रातभर खेत में पड़े शव के समीप रोती रही. 
 
बच्ची रातभर शव के साथ लिपटी रही और ठंड में ठिठुर रही थी, हालांकि बच्ची की हालत ठीक है. घटना मंगलवार देर रात की है. बच्चे के रोने की आवाज सुनकर बुधवार की सुबह वहां लोग पहुंचे. इसके बाद पुलिस को बुलाया गया. पुलिस घटना स्थल पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल गुमला भेज दिया.

जानकारी के अनुसार सुमित्रा अपने घर महादानी मंदिर बेड़ो से गाय का चारा लाने के लिए पोती को लेकर निकली थी. परंतु वह नशे की हालत में भरनो पहुंच गयी. उक्त महिला भरनो के मलगो गांव निवासी राजू गोप की बहन की सास है. 

महिला भरनो से पैदल पोती को लेकर अपने समधी के घर मेहमानी मलगो गांव जा रही थी. परंतु मलगो से पहले छापरगढ़ा के रास्ते पर खेत में महिला पोती को लेकर सो गयी. उनके पास गर्म कपड़े भी नहीं थे. बच्ची रातभर दादी के साथ लिपटकर सोये रही. सुबह ग्रामीणों ने दोनों को देखा. तो महिला मर चुकी थी. इसकी सूचना गांव में आग की तरह फैल गयी. 

बच्ची की नानी भी वहां पहुंची. तब बच्ची ने नानी को पहचाना. मामा बच्ची को लेकर सीएचसी भरनो पहुंचे. जहां उसका इलाज कराया. बच्ची बिलकुल स्वस्थ है. बच्ची के पिता रमेश गोप है ने बताया कि उन्हें यह पता नहीं था कि उसकी मां उसकी बेटी को लेकर मलगो गयी हैं. वहीं बच्ची के परिजन गांव पहुंचकर बच्ची को अपने साथ ले गये.

* खुद मर गयी, लेकिन पोती की जान बचायी

जब लोग घटना स्थल पहुंचे तो दादी की गोद में पोती लिपटी हुई थी. उसे ठंड भी लग रही थी, लेकिन दादी की गोद में लिपटे रहने के कारण उसे ठंड का असर ज्यादा नहीं हुआ. कुछ लोग कह रहे थे, ठंड से दादी मर गयी, लेकिन अपनी पोती की जान बचा ली.

Advertisement

Comments

Advertisement