Gossip

  • Jan 23 2020 8:10PM
Advertisement

Tanhaji हुई महाराष्ट्र में टैक्स-फ्री, तो अजय देवगन ने जताया आभार, लेकिन नाराज है योद्धा का गांव

Tanhaji हुई महाराष्ट्र में टैक्स-फ्री, तो अजय देवगन ने जताया आभार, लेकिन नाराज है योद्धा का गांव

मुंबई/पुणे : बॉलीवुड अभिनेता अजय देवगन ने अपनी फिल्म ‘तान्हाजी: द अनसंग वारियर' को राज्य में कर मुक्त करने के लिए महाराष्ट्र सरकार को धन्यवाद दिया है. बॉक्स ऑफिस पर फिल्म सफल रही है लेकिन महाराष्ट्र के गोडोली गांव के निवासी फिल्म के निर्माताओं से नाराज हैं.

 

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में बुधवार को हुई महाराष्ट्र कैबिनेट की बैठक में फिल्म को राज्य में कर मुक्त करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई. देवगन ने ट्वीट किया, फिल्म ‘तान्हाजी द अनसंग वारियर' को महाराष्ट्र में कर मुक्त करने के लिए उद्धव ठाकरे जी को धन्यवाद.

फिल्म दस जनवरी को रिलीज हुई थी. अब तक फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर डेढ़ सौ करोड़ रुपये की कमाई कर ली है लेकिन महाराष्ट्र के गोडोली गांव के निवासी फिल्म के निर्माताओं से नाराज हैं.

दावा किया जाता है कि मराठा योद्धा तान्हाजी मालुसरे का जन्म गोडोली में हुआ था. गांव के निवासियों का कहना है कि फिल्म में गांव का जिक्र नहीं किया गया और उन्होंने इस मुद्दे को फिल्म के निर्माताओं तक ले जाने का निर्णय लिया है जिसमें अजय देवगन ने भूमिका निभायी है.

फिल्म में मालुसरे को कोंकण के उमरत का रहने वाला दिखाया गया है. कुछ स्थानीय लोगों का दावा है कि मालुसरे का जन्म सतारा जिले के गोडोली गांव में हुआ था. एक स्थानीय निवासी ने कहा कि कुछ साल पहले गांव में मालुसरे के घर के अवशेष मिले थे जिन्हें संरक्षित रखा गया है.

उन्होंने कहा, गांव में उनका स्मारक बनाने के लिए उनके घर के कुछ अवशेष का इस्तेमाल किया गया था. निवासी ने कहा, हम फिल्म निर्माताओं से नाराज हैं. उनका (मालुसरे) जन्म गोडोली में हुआ था इसलिए कम से कम यहां बिताये उनके बचपन के दिनों को दिखाया जाना चाहिए था और फिल्म की कुछ शूटिंग गांव में होनी चाहिए थी.

उन्होंने आरोप लगाया कि तान्हाजी के बारे में दुनिया को ‘गलत इतिहास' बताया जा रहा है. एक अन्य स्थानीय ने कहा कि एक साल पहले उन्होंने तान्हाजी के तेरहवें वंशज शीतल मालुसरे से अनुरोध किया था कि फिल्म में गोडोली गांव को दिखाया जाना चाहिए. ग्रामीण अब इस मुद्दे को लेकर फिल्म निर्माताओं से मिलना चाहते हैं. एक ग्रामीण ने कहा, हम आगे की कार्रवाई के लिए इस मुद्दे को ग्रामसभा में लेकर जाएंगे.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement