gopalgunj

  • Jan 17 2020 2:11AM
Advertisement

पुलिस टीम पर शराब माफियाओं का हमला, एक हमलावर धराया

 गोपालगंज  : भोरे के बाद मांझा थाने की पुलिस टीम पर शराब माफियाओं ने हमला कर दिया. इस हमले में थानेदार मामूली रूप से घायल हो गये. हालांकि पुलिस ने एक हमलावर को घर से गिरफ्तार कर लिया. घटना मांझा थाने के कोईनी गांव की है. 

 
पुलिस ने महिला सहित चार लोगों के विरुद्ध सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने, पुलिस पर हमला करने और आरोपित को भगाने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की है. थानाध्यक्ष छोटन कुमार ने प्राथमिकी दर्ज कराते हुए कहा है कि बुधवार की शाम में पुलिस कोईनी गांव में आर्म्स एक्ट व शराब माफिया सुभाष यादव के पहुंचने की सूचना मिलने पर छापेमारी करने गयी थी. 
 
 इस दौरान रामनाथ यादव उर्फ चिरकुट व उनके पुत्र, पत्नी व पुत्रवधू आ गये और पुलिस के साथ गाली-गलौज करने लगे. पुलिस ने इसका विरोध करते हुए आरोपित को गिरफ्तारी के लिए छापेमारी करने की बात कही. इस पर पुलिस के साथ धक्का-मुक्की करते हुए मारपीट शुरू कर दी गयी. इस दौरान आरोपित घर से भाग निकाला.
 
 पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए हमलावर रामनाथ यादव उर्फ चिरकुट को गिरफ्तार कर लिया, जबकि इनकी पत्नी व पुत्र तथा पुत्रवधू फरार हो गये. गुरुवार को पुलिस ने इस मामले में प्राथमिकी दर्ज करने के बाद गिरफ्तार आरोपित को जेल भेज दिया. 
 
थावे में मोटरसाइिकल और शराब जब्त, धंधेबाज फरार
थावे. स्थानीय पुलिस ने फुलगुनी में बाइक व शराब जब्त कर ली. एसआइ निशिकांत उपाध्याय गश्ती में फुलुगनी निकले थे. 
 
उन्होंने एक बाइक को रोकने का इशारा किया, लेकिन पुलिस को देखते ही बाइक पर सवार दो लोग प्लास्टिक का बोरा फेंक और बाइक छोड़ कर भाग निकले. पुलिस ने बाइक को जब्त करते हुए बोरे की तलाशी ली, तो उसमें 76 बोतल शराब बरामद हुई. भागने वालों की पहचान फुलुगनी निवासी सुनील कुमार गुप्ता और अरविंद कुमार के रूप में की गयी है.
 
भोरे में पुलिस पर हमला करनेवाले पांचों आरोपित भेजे गये जेल 
गोपालगंज. भोरे थाने के धुरबंतरिया गांव में पुलिस टीम पर हमला करने के मामले में गुरुवार को सभी पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. जेल भेजे गये आरोपितों में धुरबंतरिया गांव के दिनेश यादव, आनंद यादव, वीरेंद्र यादव, किरण देवी तथा रामविजय चौधरी शामिल हैं.
 
 पुलिस के मुताबिक बुधवार को मारपीट के मामले की जांच करने पहुंची पुलिस टीम पर आरोपितों ने हमला कर दिया गया, जिसमें एएसआइ के अलावा दो जवान घायल हो गये थे. इस मामले घायल एएसआइ सुरेंद्र सिंह के बयान पर पांच नामजद और दो सौ अज्ञात लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गयी थी.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement