Advertisement

gopalgunj

  • Jan 7 2019 6:55AM

गोपालगंज : क्राइम पेट्रोल देख रची खुद के अपहरण व हत्या की साजिश, 50 दिन बाद लौटा

गोपालगंज : क्राइम पेट्रोल देख रची खुद के अपहरण व हत्या की साजिश, 50 दिन बाद लौटा

परिजनों ने करायी थी हत्या की प्राथमिकी

पुलिस ने पूछताछ के लिए युवक को लिया हिरासत में 

महम्मदपुर (गोपालगंज) : क्राइम पेट्रोल सीरियल को देखकर शिक्षक के बेटे अनीष कुमार पांडेय ने खुद के अपहरण और हत्या कर गंडक नदी में फेंके जाने की साजिश रच डाली. वहीं, परिजनों ने हत्या मानकर डुमरिया पुल के पास नेशनल हाइवे को जाम कर दिया था. प्रशासन को भी लाखों रुपये युवक की खोजबीन में खर्च करने पड़े. 

करीब 50 दिन बाद रविवार को वह युवक नाटकीय ढंग से घर लौट आया. महम्मदपुर पुलिस ने युवक को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है. पुलिस के अनुसार, युवक बार-बार अपना बयान बदल रहा है. हालांकि, प्रभारी एसपी विनय तिवारी ने सोमवार को खुलासा करने की बात कही है. प्रभारी एसपी ने कहा कि अपहरण का मामला नहीं है. घटना के दिन पुलिस को डुमरिया पुल पर खून का धब्बा भी मिला था. वहीं मुजफ्फरपुर से फॉरेंसिक और डॉग स्क्वायड की टीम ने भी जांच की थी. 

अनीष पर होगा केस

पुलिस अब इस बिंदु पर जांच कर रही है कि अनीष के साथ और लोग शामिल थे. कहीं ऐसा तो नहीं कि उसने अकेले ही घटना की साजिश रची. प्रभारी एसपी ने कहा कि जांच चल रही है. प्रशासन काउंटर केस दर्ज कर कार्रवाई करेगा.

19 नवंबर को ससुराल जाने की बात कह हुआ था गायब

बरौली थाना क्षेत्र के बघेजी गांव निवासी शिक्षक सुकांत भास्कर पांडेय का 29 वर्षीय पुत्र अनीष कुमार पांडेय 19 नवंबर की सुबह अपने ससुर की तबीयत खराब होने की सूचना पर बाइक से ससुराल मोतिहारी के अरेराज के लिए निकला था. 

आरोप था कि डुमरिया पुल पर अपराधियों ने ओवरटेक कर अनीष को रोक लिया और लूटपाट करने के बाद गंडक में उसे फेंक दिया. घटना के वक्त अनीष ने अपने पिता के पास कॉल किया था. परिजनों ने वारदात के विरोध में डुमरिया पुल पर एनएच 28 को जाम किया था. तीन दिन बाद पिता ने इस मामले में चार अज्ञात अपराधियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी थी. 

 

Advertisement

Comments

Advertisement