डेविड एटनबरो को 2019 का इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार
Advertisement

giridih

  • Oct 13 2019 8:31AM
Advertisement

उसरी को स्वच्छ बनाने की दो बहनों की मुहिम लायी रंग

 गिरिडीह : गिरिडीह की जीवनदायनी उसरी नदी को स्वच्छ, सुंदर व निर्मल बनाने के लिए दो बहनों ने एक मुहिम चला रखी है. शहरी क्षेत्र के मोहलीचुआं की दोनों बहनों सेजल कुमारी साहू व चाहत कुमारी साहू के जुनून को देख कर स्थानीय लोगों ने अभियान में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेना शुरू कर दिया है.

 
 बनाये गये समूह के सदस्य सप्ताह में दो दिन उसरी नदी के तट पर पहुंच कर इस सफाई अभियान में शामिल हो रहे हैं. यही नहीं, दोनों बहनें लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक भी कर रही हैं. 
 
नमामि गंगे की तरह अभियान जरूरी : शनिवार को सेजल व चाहत के नेतृत्व में काफी महिला-पुरुष अरगाघाट व शास्त्री नगर स्थित उसरी नदी के तट पर पहुंचे और सफाई अभियान चलाया. इस बाबत दोनों ने बताया कि उसरी नदी गिरिडीह के लिए गंगा से कम नहीं है. 
 
यह नदी हम सब की प्यास बुझाती रही है. जिस तरह नमामि गंगे अभियान से गंगा को स्वच्छ और निर्मल करने का संकल्प सरकार ने लिया है, उसी तरह शहर की इस गंगा को भी हम सब स्वच्छ, सुंदर और निर्मल बनायेंगे एवं जल को बचायेंगे. 
 
जनजागृति पर बल : दोनों बहनों ने कहा कि इस अभियान में शहरी क्षेत्र में जन जागरूकता जरूरी है. कहा कि नदी को स्वच्छ व सुंदर बनाने के लिए सबसे पहले हमें यह संकल्प लेना होगा कि नदी में किसी प्रकार की बोतल, कचरा, चप्पल-जूता, कपड़ा आदि नदी में नहीं फेंके जाएं. 
 
मौके पर संजू देवी, शालू देवी, अनीता देवी, रीना परवीन, कौशल्या देवी, पूनम कुमारी, सपना कुमारी, सुंदरी देवी, बिक्कू साव, मनोज साव, मिथुन रजवार, श्रवेश कुमार चौरसिया, ओम भगत, अंश राज साव, रॉनित राज, निकेश राज, शुभम साव, बबली देवी, राम बाबू साव आदि मौजूद थे.
 
पीएम से दोनों बहनों को मिल चुका है पत्र
मोहलीचुआं  की सेजल कुमारी साहू व चाहत साहू को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पत्र भी मिल चुका है. दोनों बहनें  पिछले तीन वर्षों से  रक्षा बंधन के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राखी भेज रही हैं, जिसके  जवाब में दोनों बहनों को प्रधानमंत्री से पत्र मिलता रहा है. 
 
दोनों बहनों ने प्रधानमंत्री के स्वच्छता अभियान से  प्रेरित होकर गिरिडीह में भी इस अभियान की शुरुआत की है. दोनों बहनें पिछले  एक माह से यह अभियान चला रही हैं.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement