Advertisement

giridih

  • May 22 2019 6:06AM
Advertisement

इलाज के दौरान दो नवजात की मौत, परिजनों का हंगामा

गिरिडीह : सदर अस्पताल की  चैताडीह स्थित मातृत्व एवं शिशु इकाई में सोमवार की देर रात और मंगलवार अलसुबह दो  नवजात बच्चों ने दम तोड़ दिया. इसे लेकर मंगलवार की सुबह जमकर हंगामा हुआ. 

 आक्रोशित परिजनों ने डॉक्टर व नर्स के साथ धक्का-मुक्की व मारपीट की. वहीं स्टाफ रूम के दरवाजे को भी तोड़ दिया. लोगों का आक्रोश बढ़ता  देख अधिकांश कर्मी डर से अस्पताल से निकल गये. 
 
शहरी  क्षेत्र की गार्डेना गली की नेहा देवी (पति शशि राम) व सदर  प्रखंड के कैलीबाद निवासी राधा देवी (पति सुधीर ठाकुर) को प्रसव पीड़ा के  बाद 19 मई (रविवार) को भर्ती कराया गया था. उसी दिन दोपहर लगभग 2.30 बजे नेहा ने और 2.50 बजे राधा ने बच्चे को जन्म दिया. 20 मई सोमवार की सुबह इन  दोनों बच्चों को बीसीजी का टीका दिया गया. इसके कुछ देर बाद दोनों बच्चों  की तबीयत बिगड़ गयी.  शाम चार बजे के बाद दोनों बच्चों को एसएनसीयू में  भर्ती कराया गया.  रात 10 बजे डाॅ गोविंद प्रसाद ने दाेनों बच्चों का इलाज शुरू किया.  
 
इसी बीच सोमवार की रात दो  बजे से मंगलवार सुबह 3.30 बजे के बीच नेहा व राधा के बच्चों ने दम तोड़ दिया. इसकी  जानकारी के बाद परिजन जुटने लगे और सुबह छह बजे हंगामा शुरू कर दिया. लगभग  एक घंटे तक हंगामा होता रहा. परिजनों के निशाने पर डाॅ गोविंद प्रसाद के  अलावा ड्यूटी में तैनात नर्सें रहीं. डाॅ गोविंद प्रसाद से उलझकर  हंगामा किया गया. इस बीच कुछ लोगों ने बीच-बचाव किया और मामले को शांत किया. इसके बाद दोनों मृत बच्चों को लेकर उनके परिजन घर चले गये.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement