Advertisement

gaya

  • Feb 12 2019 7:33AM

मानपुर : मानपुर में फिर ऑनर किलिंग प्रेमी-प्रेमिका को मार डाला

मानपुर : मानपुर में फिर ऑनर किलिंग प्रेमी-प्रेमिका को मार डाला

  मानपुर : मानपुर में एक बार फिर ऑनर किलिंग का मामला सामने आया है. कइया पंचायत के मनियारा गांव में पिछले आठ फरवरी को प्रेमी विकास पासवान (21 वर्ष) व प्रेमिका सोनी कुमारी उर्फ स्नेहा (16 वर्ष) की हत्या कर दी गयी. घटना को अंजाम देने के बाद युवती के परिवारवाले व गांव के लोग देर रात दोनों शवों को खटिया पर लाद कर हुकली नदी के किनारे ले गये और एक ही चिता पर अंतिम संस्कार कर दिया. इसके बाद मोटर पंप से पाइप जोड़ शवों के जलने के बाद अवशेष को पानी से साफ कर दिया. इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. 

 इधर, मृतक विकास के पिता चांदो पासवान (वजीरगंज थाना क्षेत्र के कारिसोवा गांव निवासी) ने मुफस्सिल थाना आकर अपने बेटे विकास के अपहरण की जानकारी दी. पुलिस नौ फरवरी को इसकी जांच में मनियारा पहुंची. गांव व परिवारवालों की चुप्पी ने पुलिस को परेशान कर दिया. इसके बाद पुलिस ने 10 फरवरी की देर रात कुछ संदिग्ध लोगों को उठाया व सख्ती से पूछताछ की, तो मामला सामने आने लगा.

10 फरवरी की देर रात पुलिस टीम गांव पहुंची व युवती के पिता बालेश्वर यादव, उसके चचेरा चाचा अरविंद कुमार यादव व लड़की के ननिहाल अतरी थाना क्षेत्र के बेलसर गांव निवासी श्रवण कुमार के अलावा एक अन्य को गिरफ्तार कर लिया. इस दौरान युवती के पिता बालेश्वर यादव ने हत्या की बात बतायी व शव को जलाने तक की घटना की जानकारी दी.

इधर, मुफस्सिल थानाध्यक्ष सुजीत कुमार ने बताया कि सोमवार की अहले सुबह गांव में पहुंच कर आधा किलोमीटर दूर हुकली नदी तट की झाड़ियों में तलाश की गयी. सात बजे पुलिस को एक गड्ढे में पानी के ऊपर केमिकल उतराता दिखा. पानी की जांच की और इसके बाद शव जलाने वाली जगह मिल गयी. 

 
युवक का मायापुर पुल के पास से किया अपहरण
वजीरगंज का विकास पासवान बुधगेरे बाजार में एक कोचिंग में पढ़ाता था. उसी कोचिंग में 10वीं की छात्रा सोनी कुमारी उर्फ नेहा पढ़ने आती थी. दोनों तीन माह पहले प्लान बना कर शादी की नीयत से भाग गये. इसके बाद युवती के पिता बालेश्वर यादव ने नाबालिग छात्रा के अपहरण का मामला दर्ज कराया. 
 
पुलिस ने युवक के परिवार वालों के खिलाफ दबाव बनाया, तो दोनों एक माह के बाद वापस आ गये. युवती का पुलिस ने 164 का बयान दर्ज कराया व मेडिकल जांच करायी. इसके बाद युवक को जेल भेज दिया गया. जेल से आने के बाद दोनों का मिलना-जुलना जारी रहा. इसके बाद युवक का विगत आठ फरवरी को मायापुर पुल के पास से अपहरण कर लिया गया व दोनों की हत्या कर दी गयी. 
 
क्या कहते हैं डीएसपी
वजीरगंज कैंप डीएसपी अभिजीत कुमार सिंह ने बताया कि लड़के के पिता चांदो पासवान के आवेदन पर मनियारा गांव के लोगों को आरोपित बनाया गया. इस मामले में अन्य फरार आरोपितों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जायेगा. दोहरे हत्याकांड में न्यायालय में स्पीडी ट्रायल से न्याय दिलाने की न्यायाधीश से पेशकश की जायेगी.
 
शवों के अवशेष को जांच के लिए भेजा जायेगा पटना
दोहरे हत्याकांड की जानकारी पाकर एएसपी डॉ संजय भारती व वजीरगंज डीएसपी अभिजीत कुमार सिंह मामले की जानकारी लेने पहुंचे. मामले में गिरफ्तार सभी आरोपितों से अलग-अलग जगहों पर पूछताछ की गयी. अंत में पुलिस के सामने सच्चाई आयी कि दोनों शवों को जलाने के लिए लकड़ी के अलावा केरोसिन तेल का प्रयोग किया गया.
 
इसके बाद उसके बचे अवशेष को नष्ट करने के लिए मोटर पंप से पाइप जोड़ नदी तक पानी लाया गया. पानी में केमिकल मिलने के बाद एक गहरे गड्ढे में पानी जमा हो गया. एएसपी ने बताया कि शवों  के बचे अवशेष को जांच के लिए पटना फोरेंसिक लैब में भेजा जा रहा है. 
 
युवक व युवती के माता-पिता का डीएनए टेस्ट कराया जायेगा. इसके बाद जांच के नमूने से डीएनए मिलान किया जायेगा. 
लापता अंजना की कर दी गयी थी हत्या
गया. 28 दिसंबर को मानपुर पटवा टोली की रहने वाली अंजना अचानक लापता हो गयी थी. अंजना के परिजनों ने बुनियादगंज थाने में इस बाबत शिकायत की थी, पर पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज नहीं किया गया था. लापता होने के बाद छह जनवरी को अंजना का शव क्षत-विक्षत हालत में घर से कुछ दूरी पर झाड़ियों में फेंका हुआ मिला था.
 
शव को कब्जे में लेने के बाद पुलिस ने जांच की और अंजना की हत्या को ऑनर किलिंग से जुड़ा हुआ बताते हुए मृतका के पिता और उसके साथी को जेल भेज दिया था. पुलिस की इस कार्रवाई से पटवा टोली के लोग भड़क गये थे और पुलिस के विरोध में जबर्दस्त आंदोलन किया था. मामले में पुलिस की जांच अब भी चल रही है.
 

Advertisement

Comments

Advertisement