Advertisement

gaya

  • Feb 12 2019 7:32AM

आरसीसी सुप्रीमो विनोद मरांडी साथी के साथ हुआ गिरफ्तार

 मानपुर (गया) : पुलिस ने गया-नवादा मुख्य मार्ग स्थित कइया पेट्रोल पंप के पास से विगत शुक्रवार को जिन दो युवकों को लोडेड पिस्टल के साथ गिरफ्तार किया था, वे नक्सली संगठन आरसीसी के सुप्रीमो विनोद मरांडी उर्फ सुधीर कुमार वर्मा उर्फ नेताजी उर्फ मास्टर साहब व उसके साथी कारू सिंह निकले. पुलिस सूत्रों के अनुसार, कारू सिंह गुरारू थाना क्षेत्र के केतली गांव का रहनेवाला है और वर्तमान में छोटकी नवादा में अपना ठिकाना बनाये हुए है.

वहीं, गुरारू थाना क्षेत्र का डीहा गांव आरसीसी सुप्रीमो का पैतृक गांव है और उसकी पत्नी वर्तमान में मुखिया है. पुलिस सूत्रों ने बताया कि विनोद मरांडी नीमचक बथानी, गया सदर के अलावा पड़ोसी जिला नवादा में संगठन का विस्तार करने में जुटा है. वह कइया पेट्रोल पंप के समीप किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए रेकी कर रहा था.

पुलिस को आशंका है कि मानपुर व वजीरगंज थाना क्षेत्र में बड़ी-बड़ी कंपनियां निर्माण कार्य में लगी हैं, जिससे वह लेवी वसूलने आया होगा. गेरे व मिर्जापुर में पहाड़ उत्खनन से भी मामला जुड़ा हो सकता है. 

संगठन में हाइटेक टेक्नोलॉजी का प्रयोग : पुलिस ने बताया कि आरसीसी संगठन के विस्तार में विनोद मरांडी हाइटेक टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करता है. उसे जब पुलिस ने गिरफ्तार किया, तो उसके साधारण बदमाश होने की आशंका जतायी गयी. लेकिन, जब सच्चाई सामने आयी, तो पुलिस के होश उड़ गये. संगठन के अंदर नयी-नयी टेक्नोलॉजी के अलावा बड़े व अत्याधुनिक हथियार तक प्रयोग में लाये जाते हैं. कारू सिंह के पास से बरामद पिस्टल इसका गवाह है. 
 
15 लाख रुपये में हुआ था डील
सूत्रों के अनुसार, आरसीसी संगठन के सुप्रीमो को किसी बड़ी निर्माण कंपनी द्वारा 15 लाख रुपये देने का मामला डील हुआ था. लेकिन, संगठन के शीर्ष नेता के पकड़े जाने से कुछ देर तक निर्माण कंपनी राहत की सांस ली होगी.
 
दोनों बड़ी घटना को अंजाम देने के फिराक में कर रहे थे रेकी 
गया में कइया पेट्रोल पंप के पास लोडेड पिस्टल के साथ दोनों किये गये गिरफ्तार
 
पूछताछ में मिले हैं कई अहम सुराग  
विनोद मरांडी के पास से मोबाइल, तो उसके साथी कारू सिंह के पास से लोडेड पिस्टल व मोबाइल बरामद हुए हैं. पुलिस को दोनों से पूछताछ में कुछ अहम सुराग मिले हैं. इधर, दोनों मोबाइल से अब तक हुई बातचीत में शामिल लोगों से भी पुलिस पूछताछ करने में जुटी है. हालांकि एएसपी डॉ संजय कुमार भारती ने अभी इस मामले  में कुछ भी बताने से इन्कार किया. 
 
दर्जनों मामलों में आरोपित है मरांडी : बताया जाता है कि विनोद मरांडी के खिलाफ बिहार व झारखंड में दो दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं. वह रंगदारी, लेवी, हत्या, फिरौती के अलावा कई संगीन घटनाओं का अारोपित है. पहले भी बोधगया थाना क्षेत्र से विनोद मरांडी को पुलिस ने मादक पदार्थ के साथ गिरफ्तार किया था.
 

Advertisement

Comments

Advertisement