Advertisement

gaya

  • Feb 7 2019 7:53AM
Advertisement

गया : हस्तकरघा उद्योग को बढ़ाने के लिए किये जा रहे प्रयास

 गया  : केंद्र  सरकार ने 100 दिनों में माइक्रो, स्माॅल एंड मीडियम इंटरप्राइजेज के लिए देश भर में 104 जिलों का चयन किया है. इनमें गया जिले को हस्तकरघा पर ध्यान देने के लिए चुना गया है. इसके अलावा केंद्र सरकार ने विभिन्न विभागों व मंत्रालयों में कार्यरत वरिष्ठ अधिकारियों काे भी प्रभारी अधिकारी के रूप में नामित किया है.

दो नवंबर 2018 से शुरू जिले के विभिन्न हथकरघा हस्तक्षेपों को निबटाने करने के लिए बुनकर सेवा केंद्र भागलपुर के अधिकारियों को पर्यवेक्षण अधिकारी और नोडल अधिकारी के रूप में नामित किया गया था. जिला प्रशासन, जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक, जिला अग्रणी प्रबंधक व बुनकर/को-ऑपरेटिव सोसाइटी के साथ मिल कर बुनकरों को विभिन्न लाभों का विस्तार करने के लिए व्यापक अभियान चलाया गया. इसमें आउटरीच व सहायता कार्यक्रम के दौरान 1651 हस्तकरघा बुनकरों को उनकी पहचान के लिए पहचान कार्ड दिया गया.

यार्न आपूर्ति योजना के तहत 987 हस्तकरघा बुनकरों को नामांकित किया व 348 बुनकरों को यार्न पासबुक दिया गया. इसके तहत बुनकरों ने एनएचडीसी के माध्यम से हैक यार्न पर 10 प्रतिशत प्रदान की जाती है. इसके अलावा भी दूसरी योजनाओं के तहत बुनकरों को लाभ दिया गया. एलडीएम आरपी पोद्दार ने बताया कि नौ फरवरी को गांधी मैदान में मेगा कैंप व हस्तकला सहयोग शिविर आयोजित किया जायेगा. मुख्य अतिथि के रूप में सांसद हरि मांझी मौजूद होंगे.

 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement