Advertisement

gadget

  • Apr 21 2019 6:28PM
Advertisement

AI के लिए भारत की तैयारियों पर माइक्रोसॉफ्ट का श्वेत पत्र ‘एज ऑफ इंटेलिजेंस’

AI के लिए भारत की तैयारियों पर माइक्रोसॉफ्ट का श्वेत पत्र ‘एज ऑफ इंटेलिजेंस’

मुंबई : आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) के पूर्ण इस्तेमाल के लिए भारत की तैयारी पर माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने श्वेत पत्र जारी किया है. इसे ‘एज ऑफ इंटेलिजेंस’ (Age of Intelligence) नाम दिया गया है. इसमें कहा गया है कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उद्देश्य यही है कि हर डेवलपर (Developer) इनोवेट (Innovate) करे, हर संस्थान उद्योग (Industry) को फिर से परिभाषित करे और हर व्यक्ति समाज में परिवर्तन लाने में भूमिका निभाये. माइक्रोसॉफ्ट ने इस श्वेत पत्र में बताया है कि भारत कैसे इस तकनीक का अधिकतम लाभ ले सकता है.

‘एज ऑफ इंटेलिजेंस’ में दिग्गज सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने भारत के सामर्थ्य की कल्पना की है. इसमें कहा गया है कि भारत को डिजिटल अर्थव्यवस्था बनाने, मोबाइल फोन के बढ़ते इस्तेमाल, डेटा के घटते खर्च ने सरकारी योजनाओं की आम लोगों तक पहुंच को आसान बनाया है. सुदूरवर्ती लोगों तक कनेक्टिविटी बढ़ी है.

श्वेत पत्र में एआइ के संबंध में चुनौतियों और अवसरों के बारे में विस्तार से बताया गया है. यह भी बताया गया है कि आने वाले समय में इसके क्या फायदे होंगे. इतना ही नहीं, माइक्रोसॉफ्ट ने टेक्नोलॉजी इंडस्ट्री को एआइ में भारत की अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए सक्रिय साझेदारी करने और इस अभियान से जुड़ने के लिए आमंत्रित किया. कंपनी ने कहा है कि अनेक अभियानों के लिए तकनीक की जरूरत है, जो अलग-अलग स्तर पर अलग-अलग क्षमता से काम करेगा. क्लाउड इन्फ्रास्ट्रक्चर और इंटेलिजेंट क्लाउड सेवाएं जितनी तेजी से लागू होंगी, देश में AI को अपनाने में उतनी ज्यादा मदद मिलेगी.

माइक्रोसॉफ्ट इंडिया के अध्यक्ष अनंत माहेश्वरी ने कहा, ‘हमारा उद्देश्य एआइ में मानव–केंद्रित दृष्टिकोण समाहित करना है. भारत में अभी एआइ को अपनाने की शुरुआत हुई है. चार आधारभूत स्तंभों – उद्योगों में डिजिटल परिवर्तन को संभव बनाने, इनोवेशन के लिए सहयोग करने, भविष्य के लिए तैयार कार्यबल तैयार करने और सतत सामाजिक प्रभाव उत्पन्न करने से एआइ के सामर्थ्य का अधिकतम उपयोग होगा. इसे गति मिलेगी.’

उन्होंने कहा कि ‘एज ऑफ इंटेलिजेंस’, जिसमें यह दुनिया प्रवेश कर रही है, पर उद्योग का दृष्टिकोण पेश करता है. इसमें हर पक्ष, उत्पाद व सेवाओं में इंटेलिजेंस का अनुभव वैसा ही होगा, जैसे संचार व्यवस्था में है. जिस तरह संस्थान काम करते हैं, सहयोग करते हैं. और जिस प्रकार देश व समाज विकसित होते हैं. Microsoft AI सशक्तिकरण का एक दृष्टिकोण है– हर डेवलपर इनोवेट करे, हर संगठन उद्योगों को पुनर्परिभाषित करे और हर व्यक्ति समाज में परिवर्तन लाये.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement