Advertisement

Economy

  • Apr 16 2019 8:07AM

निर्यात ने तोड़ा पुराना रेकॉर्ड, पांच साल में सबसे अधिक रहने का अनुमान

निर्यात ने तोड़ा पुराना रेकॉर्ड, पांच साल में सबसे अधिक रहने का अनुमान

नयी दिल्ली : देश के निर्यात में मार्च में अच्छी वृद्धि दर्ज की गयी. निर्यात मार्च में 11 प्रतिशत बढ़कर सात महीने में सर्वाधिक 32.55 अरब डॉलर (2.26 लाख करोड़) पर पहुंच गया. यह अक्तूबर, 2018 से एक्सपोर्ट में सबसे बड़ी मासिक वृद्धि है. उस समय एक्सपोर्ट 17.86 प्रतिशत बढ़ा था.

फार्मा, रसायन और इंजीनियरिंग जैसे क्षेत्रों में ऊंची वृद्धि से एक्सपोर्ट बढ़ा है. वाणिज्य मंत्रालय ने सोमवार को आधिकारिक आंकड़ा जारी किया. पूरे वित्त वर्ष 2018-19 में एक्सपोर्ट नौ प्रतिशत बढ़कर 331 अरब डॉलर (22.98 लाख करोड़) पर पहुंच गया. मार्च, 2018 में एक्सपोर्ट का आंकड़ा 29.32 अरब डॉलर (2.00 लाख करोड़) रहा था.

मार्च में आयात भी 1.44 प्रतिशत बढ़कर 43.44 अरब डॉलर रहा. हालांकि, इस दौरान व्यापार घाटा कम होकर 10.89 अरब डॉलर (75,615 करोड़) पर आ गया, जो मार्च 2018 में 13.51 अरब डॉलर (93,807 करोड़) था.2016-17 से कुल निर्यात (वस्तुओं और सेवाओं का मिलाकर) लगातार बढ़ रहा है. 2018-19 में यह पहली बार 500 अरब डॉलर (34.71 लाख करोड़) के आंकड़े को पार कर गया. वस्तुओं और सेवाओं का कुल निर्यात 2018-19 में 7.97 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 535.4 अरब डॉलर रहने का अनुमान है. हालांकि, आंकड़ों में फरवरी, 2019 में सर्विस एक्सपोर्ट 6.54 प्रतिशत घटकर 16.58 अरब डॉलर रह गया. इस दौरान सेवाओं का आयात भी 11 प्रतिशत घटकर 9.81 अरब डॉलर पर आ गया.

पांच साल में सबसे अधिक निर्यात रहने का अनुमान

वाणिज्य मंत्रालय ने कहा कि तीन वित्त सालों में एक्सपोर्ट में लगभग एक जैसी वृद्धि रही. वित्त वर्ष 2018-19 में एक्सपोर्ट 331.02 अरब डॉलर रहने का अनुमान है. यह में निर्यात का सबसे ऊंचा आंकड़ा है. 2013-14 में यह 314.4 अरब डॉलर रहा था.

कितना बढ़ा एक्सपोर्ट

पेट्रोलियम 28 प्रतिशत

प्लास्टिक 25.6 प्रतिशत

रसायन 22 प्रतिशत

फार्मास्युटिकल्स 11 प्रतिशत 

इंजीनियरिंग 6.36 प्रतिशत

वैश्विक चुनौतियों के बावजूद निर्यात का प्रदर्शन अब तक का सबसे अच्छा रहा है. हमें खाद्य जिंस जैसे नये प्रोडक्ट्स पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए जिससे ग्रोथ अधिक टिकाऊ हो सके.
मोहित सिंगला, चेयरमैन, व्यापार संवर्द्धन

निर्यातकों को लोन, रिसर्च डेवलपमेंट के लिए ऊंची कर कटौती, जीएसटी छूट, विदेशी पर्यटकों को बिक्री पर लाभ जैसे समर्थन देने की जरूरत है.
गणेश कुमार गुप्ता,अध्यक्ष,फियो

 

Advertisement

Comments

Advertisement