Advertisement

dharam karam

  • Jan 14 2019 11:01AM
Advertisement

#MakarSankranti2019 : कुंभ से बेहतर व्यवस्था गंगा सागर में, आज रात से शुरू हो जायेगा पुण्य स्नान

#MakarSankranti2019 : कुंभ से बेहतर व्यवस्था गंगा सागर में, आज रात से शुरू हो जायेगा पुण्य स्नान

सागरद्वीप से शिव राउथ

कुंभ से बेहतर व्यवस्था सागरद्वीप के गंगा सागर मेला में है. यह दावा है पश्चिम बंगाल सरकार के प्रशासन का. कहा गया है कि प्रयागराज में आयोजित महाकुंभ में केंद्र सरकार की मदद से उत्तम प्रबंध किये गये हैं. वहीं, पश्चिम बंगाल सरकार ने अपने दम पर प्रयागराज से बेहतर व्यवस्था सागरद्वीप में लगने वाले गंगा सागर मेला में की है. सोमवार शाम 6:09 बजे से मकर संक्रांति पर पुण्य स्नान शुरू हो जायेगा, जो मंगलवार की शाम 6:09 बजे तक चलेगा.

तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के कैबिनेट सहयोगियों का कहना है कि सुरक्षा से लेकर परिवहन, कम्यूनिकेशन से लेकर स्वच्छता एवं पेयजल आदि की अच्छी व्यवस्था की गयी है. श्रद्धालुओं के लिए यहां जो व्यवस्था की गयी है, वह कुंभ से बेहतर है.


मंत्री ने कहा कि यहां जनअभियान के तहत लगातार लोगों को शौचालय व साफ-सफाई के बारे में बताया जा रहा है. मेला परिसर को स्वच्छ रखने के लिए करीब तीन हजार सफाईकर्मियों को काम पर लगाया गया है. पहली बार मेला परिसर के चप्पे-चप्पे से कूड़ा उठाने के लिए ई-काटर्स भी रखे गये हैं.


ज्ञात हो कि बंगाल की खाड़ी और गंगा के संगम के मुहाने पर हर साल लगने वाले विख्यात गंगा सागर मेला में विशाल जनसैलाब उमड़ने का अनुमान है. शासन-प्रशासन पूरी तरह आश्वस्त हैं कि पुण्य स्नान के लिए आने वाले पुण्यार्थियों की संख्या रिकॉर्ड तोड़ देगी. राज्य के पंचायत मंत्री सुब्रत मुखर्जी ने संवाददाताओं को बताया कि आंकड़े के अनुसार, अब तक गंगासागर में 14 से 15 लाख लोग अस्था की डुबकी लगा चुके हैं.


उन्होंने इसका श्रेय राज्य सरकार को देते हुए कहा कि ममता सरकार के निर्देश पर सागर मेला हर साल पहले से बेहतर और हाइ-टेक हो रहा है. इतना ही नहीं, तीर्थयात्रियों के लिए जल से लेकर सड़क मार्ग तक की बेहतर व्यवस्था की गयी है. इसकी वजह से हर साल श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ रही है.

क्लीन और ग्रीन मेला

सुब्रत मुखर्जी ने बताया कि क्लीन और ग्रीन मेला के अयोजन के लिए करीब ढाई लाख अस्थायी शौचालयों का निर्माण किया गया. पेयजल की भी समुचति व्यवस्था की गयी. पुण्यार्थियों की सुरक्षा के लिए सागर तट पर एनडीआरएफ के जवानों को तैनात किया गया है.

मेला की व्यवस्था देखने तीन मंत्री सागरद्वीप में

गंगा सागर मेला की तमाम व्यवस्था देखने-समझने व परखने के लिए लिए बिजली मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय, पीएचईडी मंत्री अरूप विश्वास, सांसद मनीष गुप्ता सभी कोलकाता से सागरद्वीप पहुंचे हुए हैं. मंत्रियों ने सागर मेला की व्यवस्था पर संतोष जताया. कहा कि बंगाल दो दिन के पुण्य स्नान के लिए तैयार है. बिजली मंत्री ने कहा कि गंगा सागर मेला के दौरान लोड शेडिंग से कोई समस्या न हो, इसके लिए इस वर्ष सेकेंड लाइन की व्यवस्था की गयी है. बिजली गुल न हो, यह भी सुनिश्चित किया गया है.

सुरक्षा के लिए 10 हजार पुलिसकर्मियों की नियुक्ति

गंगा सागर मेला में तीर्थयात्रियों की सुरक्षा के लिए इस वर्ष लॉट नंबर आठ से मेला परिसर तक 20 पुलिस अधीक्षक व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, 220 डीएसपी रैंक के अधिकारी, 1200 अॉफिसर, 3500 कांस्टेबल, 2000 होमगार्ड, 3200 सिविक पुलिस, 200 महिला पुलिस को नियुक्त किया गया है. पहली बार एंटी क्राइम टीम के 25 पुलिसकर्मियों को भी नियुक्त किया गया है. लॉट नंबर आठ से गंगा सागर मेला तक 43 मोटरसाइकिल मोबाइल पुलिस कर्मी तथा 25 आरटी मोबाइल मोटरसाकिल की व्यवस्था की गयी है. मेले की निगरानी के लिए ड्रोन भी तैनात किये गये हैं.

स्नान का पुण्य काल

14 जनवरी (सोमवार) की रात 8:08 बजे सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेंगे. 15 जनवरी (मंगलवार) दोपहर 12 बजे तक सूर्य मकर राशि में रहेंगे. इसलिए 15 जनवरी (मंगलवार) 2019 को दोपहर 12 बजे से पूर्व ही स्नान-दान का शुभ मुहूर्त है. मकर संक्रांति पर स्नान और दान का विशेष योग 15 जनवरी 2019 (मंगलवार) को बन रहा है.

पुण्य काल मुहूर्त

पुण्य काल : 07:19 से 12:30 बजे तक

पुण्य काल की कुल अवधि : 5 घंटे 11 मिनट

संक्रांति आरंभ : 14 जनवरी 2019 (सोमवार) रात्रि 20:05 से

महा पुण्य काल शुभ मुहूर्त : सुबह 07:19 से 09:02 बजे तक

महा पुण्य काल की कुल अवधि : 1 घंटा 43 मिनट

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement