dhanbad

  • Jan 13 2020 9:46AM
Advertisement

धनबाद : माह के अंत में 20 लाख ग्रेच्युटी पर फैसला संभव

धनबाद : कोल इंडिया एपेक्स जेसीसी एवं मानकीकरण समिति की बैठक 30 एवं 31 जनवरी को कोलकाता स्थित कोल इंडिया मुख्यालय में होगी. एपेक्स जेसीसी की मीटिंग में बहुप्रतीक्षित एक जनवरी 2017 से 20 लाख ग्रेच्युटी भुगतान पर निर्णय होने की संभावना जतायी जा रही है. अगर ये फ़ैसला होता है तो करीब 18 हजार रिटायर्ड कोलकर्मियों को लाभ होगा. वहीं 31 जनवरी को मानकीकरण समिति की बैठक में कोल इंडिया चेयरमैन एके झा को फेयरवेल दिया जायेगा. श्री झा 31 जनवरी को ही रिटायर हो रहे हैं.

मजदूर संगठन उठाता रहा है ग्रेच्युटी का मुद्दा : सरकार द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार  रिटायर्ड कोल कर्मियों को 20 लाख ग्रेच्युटी का भुगतान 29 मार्च 2018 से हो रहा है, जबकि रिटायर्ड कोल अधिकारियों को 20 लाख ग्रेच्युटी का भुगतान एक जनवरी 2017 से हो रहा है. मजदूर संगठनों द्वारा लंबे समय से एक जनवरी 2017 से भुगतान की मांग की जा रही है. मानकीकरण समिति की कई बैठकों में ये मुद्दा उठा. 31 अगस्त 2019 को हुई बैठक में इस मुद्दे को एपेक्स जेसीसी में रेफर कर दिया गया था. 

पीएमओ से शिकायत

कुछ रिटायर्ड कोल कर्मियों ने इस बारे में पीएमओ से शिकायत की गयी है. पीएमओ के निर्देश पर डीपीइ ने अपने जवाब में कहा कि एक जनवरी 2017 से 20 लाख ग्रेच्युटी भुगतान का निर्णय कोल मंत्रालय को करना है. डीपीइ ने पत्र की प्रतिलिपि कोल मंत्रालय को भी प्रेषित किया है. जानकर कहते हैं कि एक ही उद्योग में ग्रेच्युटी भुगतान की तारीख में अंतर नहीं हो सकता. जानकारी के मुताबिक एक जनवरी 2017 से 28 मार्च 2018 तक लगभग 18 हजार रिटायर्ड कोलकर्मी हैं.

क्या कहता है दिशा निर्देश

केंद्रीय लोक उद्यम के अधिकारियों के तीसरे वेतन रिवीजन आयोग ( 3 पीआरसी ) की अनुशंसा एक जनवरी 2017 से लागू हुई. इसके बाद भारत सरकार के डिपार्टमेंट ऑफ पब्लिक इंटरप्राइजेज ( डीपीइ ) ने तीन अगस्त 2017 को एक दिशा-निर्देश जारी किया. उसके मुताबिक 20 लाख ग्रेच्युटी देना न देना उस लोक उद्यम एवं संबंधित मंत्रालय पर निर्भर करता है. इस 3 पीआरसी के आलोक में रिटायर्ड कोल अधिकारियों को एक जनवरी 2917 से 20 लाख ग्रेच्युटी हो रही है. 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement