Advertisement

dhanbad

  • Feb 12 2019 6:38AM

चौका-बरतन तक ही सीमित नहीं स्वरोजगार से भी जुड़ रहीं महिलाएं

धनबाद  : धनबाद की महिलाएं अपने हुनर से न सिर्फ धनबाद बल्कि दिल्ली में भी लोहा मनवा रही है. अब घर के चौका-बरतन तक उनकी कार्यशैली सीमित नहीं रही. घर का काम करते हुए स्वरोजगार से जुड़ रही हैं. घर के काम करने के बाद जो समय बचता है उससे वे पैसा अर्जित कर रही हैं. ये बातें मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल ने गोल्फ ग्राउंड में सोमवार को तीन दिवसीय शहरी समृद्धि उत्सव के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए कही. मेयर ने कहा कि धनबाद में 14 सौ महिलाओं का एसएचजी ग्रुप काम कर रहा है. 

18 हजार से अधिक महिलाएं स्वरोजगार से जुड़ गयी हैं. महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने की दिशा में निगम काम कर रहा है. स्ट्रीट वेंडरों के लिए प्रत्येक वार्ड में दो-दो वेंडिंग जोन खोलने की दिशा में प्रयास चल रहा है. गैंग्स ऑफ वासेपुर फिल्म बनाकर जो पहचान धनबाद को दिलायी गयी, उस मिथ्या को वासेपुर की महिलाओं ने तोड़ने का काम किया. मुस्लिम महिलाओं ने घर से निकल कर ग्रुप बनाकर काम किया और आज उनके बनाये हुए प्रोडक्ट की खूब डिमांड है. आगे ऐसी व्यवस्था की जा रही है कि एक साथ दो सौ से तीन सौ महिलाएं बैठकर काम करे और उद्योग के रूप में विकसित करे. उपायुक्त ए दोड्डे ने कहा कि निगम में ट्रेनिंग व प्रोडक्शन के लिए सात जगह सेंटर खोला जा रहा है. इसके लिए डीएमएफटी फंड से राशि स्वीकृत की गयी है.

एसएचजी ग्रुप को बैंक से लिंक करा कर मार्केटिंग उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है. बीस सूत्री के उपाध्यक्ष इंद्रजीत महतो आधी आबादी को कैसे स्वावलंबन बनाया जाये इसके लिए महापौर दिन रात चिंतन करते हैं. मौके पर  एसएसपी किशोर कौशल, डीडीसी शशि रंजन, ग्रामीण एसपी अमन कुमार, नगर आयुक्त चंद्रमोहन कश्यप, पार्षद देवाशीष पासवान, आयशा खातून, अंकेशराज, प्रियंका देवी, अंदिला देवी, प्रियरंजन, संजय कुमार, अनुरंजन कुमार, एलडीएम अमित कुमार, अपर नगर आयुक्त महेश संथालिया, इंद्रेश शुक्ला, मो अनिश आदि उपस्थित थे.

 

Advertisement

Comments

Advertisement