Advertisement

dhanbad

  • Jan 11 2019 7:44AM

कोयला का उत्पादन बढ़ाना जरूरी, सीएसआर और स्किल डेवलपमेंट पर दिया जोर - कोयला सचिव

धनबाद  : कोयला सचिव सुमंतो चौधरी ने कहा कि देश की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने में कोयला की अहम भूमिका है. वर्तमान में इसका विकल्प नहीं है. इसलिए हर हाल में लक्ष्य के मुताबिक कोयला उत्पादन करें, ताकि पावर कंपनियों को पर्याप्त मात्रा में कोयला मिल सके. 
 
कोयला सचिव  गुरुवार को बीसीसीएल मुख्यालय कोयला भवन स्थित सभागार में कंपनी के अधिकारियों के साथ रिव्यू मीटिंग कर रहे थे. श्री चौधरी कोयला सचिव बनने के बाद पहली बार बीसीसीएल पहुंचे थे. उन्होंने सीएसआर और स्किल डेवलपमेंट पर जोर दिया. 
 
रिव्यू मीटिंग में बीसीसीएल के सीएमडी गोपाल सिंह, निदेशक (वित्त) केएस राजशेखर, निदेशक (कार्मिक) आरएस महापात्रा व निदेशक तकनीकी (योजना व परियोजना) एनके त्रिपाठी के अलावा कंपनी मुख्यालय व सभी एरिया के महाप्रबंधक उपस्थित थे. 
 
जमीन अधिग्रहण में तेजी लायें 
 कोल सचिव ने कहा कि बीसीसीएल कई गंभीर चुनौतियों से जूझ रहा है. लेकिन सामूहिक प्रयास से कंपनी को एक बार पुन: शिखर पर ले जाना है. बीसीसीएल की आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए हर हाल में कोयला उत्पादन बढ़ाना होगा. 
 
इसके लिए जमीन अधिग्रहण में तेजी लायें. उन्होंने भू-धंसान व अग्नि प्रभावित क्षेत्रों में रहने वाले बीसीसीएल कर्मियों को अविलंब सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट करने की बात कही.
 
झरिया पर रांची में आज बैठक
भू-धंसान  तथा अग्नि प्रभावित क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थान में  पुनर्वासित करने को लेकर गठित हाइ पावर कमेटी की बैठक शुक्रवार को  कोल  सचिव सुमंत चौधरी के अध्यक्षता में रांची में होगी. इसमें झरिया मास्टर  प्लान के तहत अब तक हुए कार्यों की समीक्षा होगी. इसके पश्चात कोल सचिव खनन  क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं के निदान को लेकर झारखंड के मुख्य सचिव के  साथ बैठक करेंगे. 
 

Advertisement

Comments

Advertisement