Advertisement

dhanbad

  • Jan 11 2019 7:38AM

सर्दी में भी प्यास लगती है, नहाना भी होता है!

 धनबाद : भर गर्मी शहर पानी के लिए तड़पता रहा. माना की सर्दी में पानी की कम जरूरत होती है, लेकिन इतनी भी नहीं कि तीन-तीन दिन बिना जलापूर्ति के जिंदगी आराम से कट जाये. आखिर सर्दी में भी लोगों को प्यास लगती है. नहाना होता है. इसके अलावा और भी रोजमर्रा के काम करने होते हैं. लेकिन जलापूर्ति की स्थित बदतर है. जानकारी के अनुसार पुराना बाजार जलमीनार से तीन दिन, तो वासेपुर में एक सप्ताह से लोगों को पानी नहीं मिल रहा है.  
 
वासेपुर के पार्षद निसार खान बताते हैं कि उनके इलाके में वल्व खराब हो जाने से पानी टंकी में चढ़ नहीं पा रहा है. इस इलाके के लोगों को पानी नहीं मिल रहा है. पिछले एक सप्ताह से उनके इलाके के लोगों को पानी मिला ही नहीं है. वहीं पुराना बाजार जलमीनार में तीन दिनों से जलापूर्ति नहीं हो रही है. इसको लेकर भी लोग काफी परेशान नजर आ रहे है. 
 
स्थानीय व्यक्ति जीतेंद्र अग्रवाल ने बताया कि पेयजल कार्यालय में लगातार शिकायत करने के बाद भी जलापूर्ति नहीं हो रही है. फोन करने पर वह लोग आजकल करके टाल रहे हैं, मगर पानी नहीं दे रहे हैं. पानी आने के बाद भी जलमीनार के ऑपरेटर दस से पंद्रह मिनट से अधिक पानी नहीं दे रहा है. जलमीनार में ऑपरेटर को खोजने पर वह नदारद रहता है. 
 
पांच जलमीनार सूखे : गुरुवार को शहर के पांच जलमानीर धोबाटांड़, गोल्फ ग्राउंड, पुराना बाजार, वासेपुर और मनईटांड़ से जलापूर्ति नहीं हो पायी. पेयजल विभाग ने मामले में बताया कि मोटर खराब रहने की वजह से जलापूर्ति में परेशानी हुई है.
 

Advertisement

Comments

Advertisement