Advertisement

devgarh

  • Jul 21 2019 4:43AM
Advertisement

प्रशासन का दावा : शनिवार को 1.28 लाख जलार्पण

प्रशासन का दावा : शनिवार को 1.28 लाख जलार्पण

 उपायुक्त ने कहा : भीड़ कम, आज भी शीघ्रदर्शनम

हकीकत : पिछले साल पहली सोमवारी को 1.71 लाख कांवरियों ने चढ़ाया था जल

बाह्य अरघ से 21073 जलार्पण

शीघ्र दर्शनम कूपन से 3049 श्रद्धालुओं ने चढ़ाया जल

बाबा व पार्वती मंदिर में चढ़ावा से 1,01,082 रुपये की आमदनी
 
देवघर : मनोकामना लिंग बाबा बैद्यनाथ के दरबार में हर दिन  कांवरियों का रेला पहुंच रहा है. इससे बाबा नगरी केसरियामय हो गयी है. हर  तरफ शिव भक्त दिख रहे हैं. बाबा मंदिर में लगातार भीड़ में बढ़ाेतरी हो रही  है. बाबा का दर्शन कर भक्त गदगद होकर बाहर निकल रहे हैं. श्रावणी मेले के चौथे दिन शनिवार को मंदिर का कपाट खुलने से पहले कांवरियों की  कतार बीएड कॉलेज के पार पहुंच गयी थी. शिवगंगा में संकल्प कराने के पश्चात  कांवरियों को मानसरोवर होते हुए बसंती मंडप के पीछे के रास्ते से कतार में  भेजने की व्यवस्था सुबह से ही जारी रही. 
 
शनिवार को मंदिर का पट अपने निर्धारित समय पर खुलने के पश्चात बाबा मंदिर स्टेट की ओर से पुजारी सुनील तनपुरिये ने भोलेनाथ की सरदारी पूजा को संपन्न कराया. उसके बाद सुबह करीब पौने चार बजे आम कांवरियों के लिए पट खोल दिया गया था. शनिवार को कुल 1,28,049 कांवरियों ने जलार्पण किया. जिसमें 3049 कांवरियों ने शीघ्रदर्शनम कूपन के माध्यम से पूजा की.
 
जबकि, बाह्य अरघा से 21073 कांवरियों ने जल चढ़ाया. प्रशासन के आंकड़ों पर गौर करें तो पिछले साल श्रावण मास की पहली सोमवारी को 1.71 लाख कांवरियों ने जलार्पण किया था. जबकि, इस बार शनिवार को ही 1,28,049 कांवरियों ने जलार्पण किया. लेकिन, यह प्रशासन की अपेक्षाओं के मुताबिक कम नजर आ रहा है.
 
इसलिए रविवार को भी शीघ्रदर्शनम कूपन की व्यवस्था चालू रखने का निर्णय लिया है. मालूम हो कि श्रावणी मेला से पहले रविवार व सोमवार को  कूपन की व्यवस्था को बंद रखने का निर्णय लिया गया था. लेकिन, इस रविवार को  भीड़ कम देखते हुए डीसी ने शीघ्रदर्शनम कूपन जारी रखने का निर्णय लिया है.
 
पुलिस-प्रशासन भी मुस्तैद
 
कांवरियों की भीड़ को कंट्रोल करने के लिए जगह-जगह पर  भारी संख्या में पुलिस पदाधिकारी के अलावा दंडाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति  की गयी है. बाबा मंदिर में एसडीएम विशाल सागर व प्रशिक्षु आइएएस सरकारी  पूजा से ही तैनात देखे गये. सुबह में भीड़ नियंत्रित करने के लिए बाबा मंदिर के सहायक प्रभारी डॉ आनंद तिवारी सहित मंदिर कर्मचारी व भारी संख्या में पुलिस बल तथा रैफ के जवान तैनात रहे.
 
वहीं मां पार्वती मंदिर के लिए बाबा मंदिर परिसर में ही कतार के माध्यम से सूर्यनारायण व सरस्वती मंदिर के पीछे से स्टील ब्रिज के माध्यम से कतारबद्ध तरीके से जलार्पण की व्यवस्था को जारी रखा गया. इसके अलावा बाह्य अरघा में जलार्पण के लिए आये कांवरियों को कतारबद्ध करने के लिए बाबा मंदिर के  पश्चिम दरवाजे से होते हुए नाथबाड़ी में भक्तों को कतार में लगाते हुए देखा गया.  
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement