Advertisement

devgarh

  • Mar 15 2019 2:15AM

संदेहास्पद परिस्थिति में मां-बेटी का गला कटा, मां गंभीर, रेफर

  गंभीर हालत में मेधा सेवा सदन में हुआ मां-बेटी का प्राथमिक उपचार

 मां को भेजा गया दुर्गापुर, बेटी की हालत खतरे से बाहर

 बिहार अंतर्गत बांका जिले के कटोरिया थाना क्षेत्र के तरगछा गांव की है रहनेवाली
 
देवघर : पति से झगड़ा होने के बाद एक महिला संगीता देवी व उसकी 10 साल की पुत्री अंशू कुमारी का संदेहास्पद परिस्थिति में धारदार हथियार से गला कटने का मामला सामने आया है. दोनों को गंभीर हालत में कुंडा स्थित मेधा सेवा सदन में भरती कराया गया. प्राथमिक उपचार के बाद मां की गंभीर हालत देखते हुए मेजर सर्जरी के लिए दुर्गापुर भेज दिया गया. वहीं बेटी की हालत खतरे से बाहर बताते हुए आइसीयू में भरती कर इलाज किया जा रहा है.
 
घायल मां-बेटी बिहार अंतर्गत बांका जिले के कटोरिया थाना क्षेत्र के तरगछा गांव की रहनेवाली है. घटना के बारे में परिजन कुछ स्पष्ट नहीं बता रहे हैं. होश आने के बाद अंशू खूब रो रही थी. रोते हुए उसने बताया कि उसका पिता देवशरण यादव ट्रक चालक है. मंगलवार को मां व पिता के बीच झंझट हुआ था. उसी को लेकर बुधवार देर रात में मां ने चाकू से पहले उसका गला काट दिया, फिर अपना भी गला काटने लगी.
 
घायल हालत में वह बचाने के लिए चिल्लाने लगी, तब मंझले पापा सहित अन्य लोग पहुंचे और दोनों को इलाज के लिए लाया. मेधा सेवा सदन के डॉ संजय कुमार के मुताबिक अंशू की हालत खतरे से बाहर है. उसकी मां संगीता का ट्रेकिया (श्वास नली) कट गया, जबकि मेन आर्टरी बच गया. संगीता को तुरंत मेजर सर्जरी की जरूरत है. प्राथमिक उपचार के बाद ब्लड चढ़ाते हुए उसे बेहतर इलाज के लिए दुर्गापुर भेज दिया गया. मां-बेटी के इलाज के बाद मेधा सेवासदन के डॉ संजय ने सूचना कुंडा थाने को भेज दी. समाचार लिखे जाने तक कुंडा थाने की पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement