Advertisement

Delhi

  • May 26 2019 10:02PM
Advertisement

अरब सागर में अनुकूल परिस्थितियां नहीं होने के कारण मॉनसून के आगे बढ़ने में हो रही देरी

अरब सागर में अनुकूल परिस्थितियां नहीं होने के कारण मॉनसून के आगे बढ़ने में हो रही देरी

नयी दिल्ली : अरब सागर में अनुकूल मौसमी परिस्थितियां नहीं होने के चलते भी इस साल मॉनसून के आगे बढ़ने में देर हो रही है. राष्ट्रीय मौसम एजेंसी ने रविवार को यह जानकारी दी. भारतीय मौसम विभाग ने कहा कि मानसून 18 मई को अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह पहुंच गया था लेकिन यह अभी पूरे क्षेत्र में नहीं पहुंच सका है. 

 

मौसम विभाग के अतिरिक्त महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि अरब सागर में परिस्थितियां अनुकूल नहीं होने के कारण मानसून के आगे बढ़ने की गति धीमी है. उन्होंने उम्मीद जतायी कि दक्षिण पश्चिम मानसून के बंगाल की खाड़ी, अंडमान द्वीपसमूह और उत्तरी अंडमान सागर के कुछ अन्य इलाकों तक पहुंचने के लिहाज से परिस्थितियां बुधवार-बृहस्पतिवार तक अनुकूल हो जायेंगी. 

 

मौसम विभाग के मुताबिक मानसून के इस साल पांच दिन की देरी से छह जून तक केरल के तट पर पहुंचने की संभावना है. मौसम विभाग ने अपने बुलेटिन में कहा कि बुधवार और बृहस्पतिवार को असम, मेघालय और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में अच्छी बारिश हो सकती है. हालांकि कुछ स्थानों पर भारी वर्षा के आसार जताये गये हैं. 

 

उसने कहा है कि 26-28 मई के बीच कर्नाटक के दक्षिणी आंतरिक हिस्सों एवं मंगलवार-बुधवार को तमिलनाडु एवं पुडुचेरी के कुछ हिस्सों में बारिश हो सकती है. दूसरी ओर मध्य भारत और आंध्र प्रदेश एवं तेलंगाना के कुछ इलाकों में लू की स्थिति बनी रह सकती है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement