Advertisement

Delhi

  • Jul 14 2019 5:09PM
Advertisement

मिड-डे मील खाने से 3 साल में 900 से अधिक बच्चे हुए बीमार : मंत्रालय

मिड-डे मील खाने से 3 साल में 900 से अधिक बच्चे हुए बीमार : मंत्रालय
सांकेतिक फोटो

नयी दिल्ली : देशभर में तीन साल के दौरान मध्याह्न भोजन (मिड-डे मील) खाने से 900 से अधिक बच्चों के बीमार होने के मामले सामने आए हैं. मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधिकारियों ने यह जानकारी दी है.

 

मंत्रालय को इस अवधि के दौरान भोजन की घटिया गुणवत्ता के संबंध में 15 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से 35 शिकायतें मिली. मानव संसाधन विकास मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, देशभर में ऐसा भोजन खाने से बीते तीन साल और मौजूदा साल के दौरान कुल 930 बच्चों के बीमार पड़ने के मामले सामने आए.

इनमें से किसी की मौत नहीं हुई. पात्र बच्चों को पका हुआ और पौष्टिक मध्याह्न भोजन मुहैया कराने की पूरी जिम्मेदारी राज्य सरकार पर है. अधिकारी ने कहा कि मध्याह्न भोजन योजना मानव संसाधन विकास मंत्रालय के स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग के तहत आती है. उन्होंने कहा कि संबंधित राज्य सरकारों से अनुरोध किया गया था कि वे इन मामलों में की गई कार्रवाई की रिपोर्ट (एटीआर) प्रस्तुत करें.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement