Advertisement

Delhi

  • Aug 24 2019 12:50PM
Advertisement

#ArunJaitley : कल होगा अरुण जेटली का अंतिम संस्कार, राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी श्रद्धांजलि

#ArunJaitley : कल होगा अरुण जेटली का अंतिम संस्कार, राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी श्रद्धांजलि

- राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिवंगत पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली को उनके आवास पर श्रद्धांजलि दी.

- अरुण जेटली के निधन पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा- भाजपा ने जेटली के रूप में एक हीरा खोया. हमने एक साल में कई नेताओं को खो दिया है. अटल जी, अनंत कुमार, मनोहर पर्रिकर, सुषमा स्वराज और अब अरुण जेटली. उनकी मृत्यु पर गहरा शोक प्रकट करता हूं.

- केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने अरुण जेटली को उनके आवास पर श्रद्धांजलि दी. 

- अरुण जेटली के निधन पर टीम इंडिया वेस्‍टइंडीज के खिलाफ आज टेस्‍ट मैच में बांह पर काली पट्टी लगाकर खेलेगी. अरुण जेटली डीडीसीए के पूर्व अध्‍यक्ष और बीसीसीआई के पूर्ण उपाध्‍यक्ष के पद पर भी रहे थे.

- पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली के पार्थिव शरीर को एम्‍स से उनके आवास लाया गया. सुबह 10 बजे पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए भाजपा मुख्‍यालय में रखा जायेगा.

-केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्द्धन ने पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली के पार्थिव शरीर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से श्रद्धासुमन अर्पित किये. वहीं जेपी नड्डा ने गृहमंत्री अमित शाह की तरह से श्रद्धांजलि अर्पित किया.

एम्स में औपचारिकताओं के बाद जेटली के पार्थिव शरीर को उनके कैलाश कॉलोनी स्थित आवास पर ले जाया जाएगा. रविवार सुबह  10 बजे से उनका पार्थिव शरीर भाजपा मुख्यालय में अंतिम दर्शन के लिए रखा  जायेगा. उसके बाद उनकी अंतिम यात्रा शुरू होगी और  निगमबोध घाट में उनका अंतिम संस्कार होगा 

- कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने शोक संदेश में कहा कि अरुण जेटली का जाना बहुत ही दुखद है. उन्होंने एक राजनेता के रूप में लंबी पारी खेली. एक सांसद और मंत्री के रूप में उन्होंने उल्लेखनीय कार्य किये, उन्हें हमेशा स्मृतियों में रहेंगे.

- झारखंड के मुख्यमंत्री ने कल आयोजित होने वाले अपने सभी कार्यक्रम रद्द किये, दिल्ली जायेंगे

- अरुण जेटली का अंतिम संस्कार कल निगमबोध घाट में होगा  

-राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने शोक संदेश में कहा कि अरुण जेटली के निधन से अत्यंत दुखी हूं. वे एक प्रतिभावान वकील, एक अनुभवी सांसद और प्रतिष्ठित मंत्री थे. उन्होंने राष्ट्रनिर्माण में अहम योगदान दिया. वहीं उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने उन्हें अपना सहकर्मी बताते हुए उनके निधन पर शोक जताया. नायडू ने उन्हें प्रतिभावान नेता और बुद्धिजीवी बताया.

-  PM मोदी ने अरुण जेटली की पत्नी संगीता जेटली और बेटे रोहन से बात की. उनकी पत्नी ने पीएम मोदी से आग्रह किया कि वे अपनी विदेश यात्रा जारी रखें. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण एम्स पहुंच गयी हैं. 

- पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली का एम्स में हुआ निधन, PM मोदी ने जताया शोक, शाह-राजनाथ दिल्ली रवाना

नयी दिल्ली : पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली का आज दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया. वे पिछले 9 अगस्त से अस्पताल में भरती थे और काफी दिनों से बीमार चल रहे थे. उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था. वे कैंसर से पीड़ित थे और उनके स्वास्थ्य में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही थी. वे 66 साल के थे.

अरुण जेटली 2014 से 2019 तक नरेंद्र मोदी सरकार में वित्त मंत्री रहे थे. लेकिन स्वास्थ्य कारणों से वे नरेंद्र मोदी सरकार-2 में शामिल नहीं हुए थे. उनका जन्म दिल्ली में 28 दिसंबर 1952 को हुआ था. उनके पिता महाराज कृष्ण जेटली दिल्ली के प्रसिद्ध वकील थे. उन्होंने दिल्ली के संत जेवियर स्कूल से पढ़ाई की थी. फिर श्रीराम कॉलेज अॅाफ कॉमर्स से बीकॉम किया. दिल्ली के लॉ यूनिवर्सिटी से कानून की शिक्षा ली थी.

वे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सदस्य रहे थे और वहीं से उन्होंने राजनीति की शुरुआत की थी. इमरजेंसी के दौरान उन्होंने 19 महीने जेल में बिताये थे. जेल से छूटने के बाद उन्होंने जनसंघ ज्वाइंन कर लिया था. वे 1999 में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में भी मंत्री रहे थे.

 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement