Delhi

  • Jan 21 2020 6:15PM
Advertisement

#DelhiElections2020 : आखिरकार, 7 घंटे के इंतजार के बाद केजरीवाल ने कर ही दिया नॉमिनेशन

#DelhiElections2020 :  आखिरकार, 7 घंटे के इंतजार के बाद केजरीवाल ने कर ही दिया नॉमिनेशन
photo twitter

नयी दिल्ली : नयी दिल्ली विधानसभा सीट के लिए नामांकन भरने के वास्ते नामांकन के अंतिम दिन मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 45 नंबर का टोकन लिए इंतजार करते देखा गया.

केजरीवाल ने कहा, अपना नामांकन भरने का इंतजार कर रहा हूं. मेरा टोकन नंबर 45 है. यहां बहुत से लोग नामांकन भरने आए हैं. मैं खुश हूं कि लोकतंत्र में इतने सारे लोग भाग ले रहे हैं. आम आदमी पार्टी नेताओं ने दावा किया कि अधूरे कागजात के साथ आए 35 उम्मीदवारों ने कहा कि जब तक वह नामांकन नहीं भर लेते तब तक मुख्यमंत्री को नामांकन नहीं भरने देंगे.

पार्टी नेताओं को इसमें साजिश दिखी. प्रक्रिया के अनुसार नामांकन तीन बजे तक ही भरा जा सकता है, लेकिन पर्चा दाखिल करने के लिए टोकन ले चुके प्रत्याशियों को उनकी बारी आने तक पर्चा दाखिल करने दिया जाता है.

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि भाजपा चाहे जितनी साजिश कर ले वह केजरीवाल को नामांकन भरने से नहीं रोक सकती. उन्होंने विधायक सौरभ भारद्वाज के ट्वीट को टैग करते हुए ट्वीट किया, भाजपा वालों तुम चाहे जितनी साजिश रच लो तुम केजरीवाल को नामांकन भरने और तीसरी बार दिल्ली का मुख्यमंत्री बनने से नहीं रोक सकते.

तुम्हारी साजिश से कुछ नहीं मिलने वाला. भारद्वाज ने आरोप लगाया था कि कार्यालय में मुख्यमंत्री के साथ 35 उम्मीदवार बैठे थे जिनके पास नामांकन के पर्याप्त दस्तावेज या दस प्रस्तावक भी नहीं थे. उन्होंने कहा, उम्मीदवारों जिद कर रहे हैं जब तक उनके कागजात पूरे नहीं हो जाते और वह नामांकन नहीं भर लेते तब तक वह मुख्यमंत्री को नामांकन नहीं भरने देंगे.

भारद्वाज के ट्वीट का उत्तर देते हुए केजरीवाल ने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि उनमें से बहुत से लोग पहली बार नामांकन भर रहे हैं. केजरीवाल ने ट्वीट किया, कोई फर्क नहीं पड़ता. उनमें से बहुत से लोग पहली बार नामांकन भर रहे हैं.

उनसे गलती होगी ही. हमने भी पहली बार में गलतियां की थीं. हमें उनकी सहायता करनी चाहिए. मुझे अच्छा लग रहा है और मैं उनके साथ प्रतीक्षा कर रहा हूं. वे सभी मेरे परिवार के अंग हैं.

'आप' के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल को अपना नामांकन पत्र सोमवार को दाखिल करना था, लेकिन अपने रोडशो के कारण विलंब के चलते वह ऐसा नहीं कर पाए. केजरीवाल ने कहा, अगले पांच साल की यात्रा अब यहां से शुरू होती है. दिल्ली में हुए अच्छे काम की तरह मैं उम्मीद करता हूं कि अगले पांच साल में भी अच्छा काम होगा.

उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों का उद्देश्य जहां उन्हें हराने का है, वहीं उनका उद्देश्य भ्रष्टाचार को हराना और दिल्ली को आगे ले जाने का है. केजरीवाल ने कहा, भाजपा, कांग्रेस, लोजपा, जजपा, जदयू और राजद साथ आ गए हैं.

इस बार दिल्ली में इस तरह का गठबंधन है. इन सभी दलों का एकमात्र उद्देश्य यह है कि केजरीवाल को कैसे हराया जाए और मेरा केवल एक उद्देश्य है कि भ्रष्टाचार का कैसे खात्मा किया जाए और दिल्ली को कैसे आगे ले जाया जाए.

आप प्रमुख ने कहा, वे (विपक्षी दल) कह रहे हैं कि केजरीवाल को हराओ और मैं कह रहा हूं कि स्कूलों को बेहतर बनाओ, अस्पतालों को बेहतर बनाओ. उनका एकमात्र उद्देश्य केजरीवाल को हराने का है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement