Advertisement

Delhi

  • Apr 15 2019 10:46AM

आजम खान की टिप्पणी पर देश भर में प्रतिक्रिया, जयाप्रदा ने कहा चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध लगाया जाये

आजम खान की टिप्पणी पर देश भर में प्रतिक्रिया, जयाप्रदा ने कहा चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध लगाया जाये

नयी दिल्ली : सपा नेता आजम खान ने जिस तरह अभिनेत्री और नेत्री जया प्रदा पर टिप्पणी की है, उसे लेकर पूरे देश की राजनीति में हलचल है. आजम खान के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए जया प्रदा के करीबी अमर सिंह ने उन्हें राक्षस बताया. अमर सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उनके जैसे व्यक्ति से अपेक्षा भी क्या की जा सकती है. आजम खान एक दोहरे मापदंड वाले व्यक्ति हैं. उन्होंने अमर सिंह को नफरत की राजनीति करने वाला बताया. उन्होंने कहा कि आखिर उनके मन में देश की बेटी के प्रति इतनी नफरत क्यों है. उन्होंने कहा कि आज देश में एक ऐसा प्रधानमंत्री है, जो दुश्मन के घर में घुसकर वार करता है, फिर देश में आजम खान जैसा राक्षस कैसे पनप जाता है. कांग्रेस की वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित ने आजम खान के बयान की निंदा की और कहा कि उन्हें अविलंब माफी मांगनी चाहिए. यह बयान किसी भी तरह स्वीकार्य नहीं है और उनपर तुरंत कार्रवाई हो.

आजम खान के बयान पर सपा की ओर से जारी पहले बयान में पार्टी प्रवक्ता जूही सिंह ने कहा कि यह बेहद शर्मनाक बयान है और इसका समर्थन कोई नहीं कर सकता. जहां तक बात पार्टी की है, तो पार्टी का इस बयान से कोई लेना-देना नहीं है. वहीं आजम खान के इस बयान पर टिप्पणी करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज ट्‌वीट किया. उन्होंने  मुलायम सिंह से कहा है -मुलायम भाई आप समाजवादी पार्टी के पितामह हैं, आपके सामने द्रौपदी का चीरहरण हो रहा है. आप भीष्म की तरह मौन साधने की गलती ना करें. सुषमा स्वराज ने अपने ट्‌वीट में अखिलेश यादव, जया बच्चन और डिंपल यादव को भी टैग किया है. 

वहीं आज जया प्रदा ने आजम खान के बयान पर मीडिया से बात करते हुए कहा कि यह मेरे लिए कोई नयी बात नहीं है. 2009 में जब मैं उनकी पार्टी की उम्मीदवार थी तब भी उन्होंने मेरे बारे में क्या कहा था यह सबको पता है, मैं एक औरत हूं और उन बातों को दोबारा कहना नहीं चाहती. मुझे समझ नहीं आता कि वे जिस तरह की बयानबाजी करते हैं उसपर मैं क्या करूं.

उन्हें चुनाव लड़ने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए, क्योंकि अगर यह इंसान जीता तो क्या होगा प्रजातंत्र का. समाज में महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं रहेगी. हम कहां जायें? वे चाहते हैं क्या हैं? मैं मर जाऊं? वे ऐसा सोचते हैं  कि वो  मेरा अपमान करेंगे तो मैं रामपुर छोड़कर चली जाऊंगी लेकिन मैं ऐसा नहीं करूंगी.

इधर आजम खान के विवादित और अश्लील टिप्पणी को लेकर राष्ट्रीय महिला आयोग ने स्वत: संज्ञान लेकर उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया है. आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा कि वे चुनाव आयोग से भी इस संबंध में शिकायत करेंगी और उनके चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध लगाने की मांग करेंगी.  उन्होंने कहा कि महिलाएं सिर्फ ‘सेक्स आब्जेक्ट’ नहीं हैं. मुझे ऐसा लगता है कि महिला मतदाताओं को चाहिए कि वे उन्हें वोट ना करें. जो इंसान महिलाओं के बारे में ऐसी सोच रखता हो और उनके साथ इस तरह का आचरण करता हो उन्हें महिलाएं क्यों वोट करेंगी. 

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने कल एक सभा में जयाप्रदा पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि मैं 17 दिन में पहचान गया था कि इनके अंडरवियर का रंग खाकी है. उनके इस बयान पर प्राथमिकी दर्ज हो गयी है. वहीं आजम खान ने अपनी सफाई में कहा है कि मैंने किसी का नाम नहीं लिया था और अगर जांच में मैं दोषी साबित हो जाता हूं तो मैं चुनाव नहीं लडूंगा. ज्ञात हो कि आजम खान और जया प्रदा के बीच रिश्ते बहुत दिन से अच्छे नहीं हैं और इससे पहले भी आजम खान ने जयाप्रदा पर कई बार अश्लील टिप्पणी की है.

Advertisement

Comments

Advertisement