darbhanga

  • Jan 25 2020 2:39AM
Advertisement

जल स्रोतों काे शत-प्रतिशत अतिक्रमणमुक्त करने को लेकर जिला प्रशासन हुआ ऑन

 सभी सीओ को हर हप्ते करना होगा लक्ष्य का पांच फीसदी काम पूरा

जल-जीवन-हरियाली अभियान की प्रगति की प्रत्येक हफ्ते होगी समीक्षा : डीएम 
 
दरभंगा : डीएम डॉ त्यागराजन एसएम ने सभी अंचलाधिकारियों को सभी अतिक्रमित प्राकृतिक जल स्रोतों से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई तेज करने का निर्देश दिया है. कहा कि जल स्रोतों को अतिक्रमण मुक्त करने की कार्रवाई की साप्ताहिक समीक्षा होगी. सभी अधिकारियों को एक चेक लिस्ट उपलब्ध कराया गया है, जिसमें यह प्रतिवेदन देना होगा कि पूर्व में कितने जल स्रोतों को अतिक्रमण मुक्त कराया गया है तथा इस हफ्ते कितने अतिक्रमण हटाये गये. डीएम ने यह बात जल-जीवन-हरियाली अभियान की समीक्षा के क्रम में कही.

चिह्नित 288 कुआं का भौतिक सर्वेक्षण कर किया जायेगा जीर्णोद्धार
 
डीएम ने कहा कि सभी सीओ प्रत्येक हफ्ते लक्ष्य का पांच प्रतिशत पोखर/तालाब /आहर/पइन आदि को अतिक्रमण मुक्त करायेंगे. कार्यपालक अभियंता, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण प्रमण्डल को चिन्हित किये गये सार्वजनिक 288 कुओं का एक सप्ताह के अंदर भौतिक सर्वेक्षण कर जीर्णोद्धार की कार्रवाई प्रारंभ करने को कहा गया. सभी प्राकृतिक जल स्रोतों को अभियान चलाकर अतिक्रमण मुक्त कराया जायेगा फिर उसका जीर्णोद्धार होगा. जिलाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता लघु सिंचाई एवं अंचल अधिकारी को संयुक्त रुप से जल स्रोतों यथा नदी, चेक डैम आदि का भौतिक सर्वेक्षण कर प्रतिवेदन देने का निर्देश दिया है. 
 
 कहा है कि सूखे हुए जल स्रोतों की ही उड़ाही की जाएगी. सिंहवाड़ा के सीओ ने बताया कि 82 में से 12 आहर पइन को अतिक्रमण मुक्त करा दिया गया है. मनीगाछी में 40 में से 13, कुशेश्वरस्थान में 57 में से 4, अलीनगर में 63 में 21, बहादुरपुर में 92 में से 4 जल स्रोतों से अतिक्रमण हटा दिया गया है. बैठक में डीडीसी, अपर समाहर्ता, कार्यपालक अभियंता लघु सिंचाई, डीइओ, सदर डीसीएलआर, सभी सीओ, सभी पीओ आदि मौजूद थे.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement