Advertisement

darbhanga

  • Sep 15 2019 2:42AM
Advertisement

पारा मेडिकल छात्रावास को तोड़ने की प्रक्रिया शुरू

 जेसीबी से नहीं टूटा भवन, लगायी जायेगी पोकलेन मशीन

निर्माण के मार्ग में बाधक बनेगा नर्स क्वार्टर, रैन बसेरा व शौचालय

डीएमसीएच प्रशासन के अल्टीमेटम के बावजूद परिचारिकाओं ने नहीं खाली किया अपना आवास
 
दरभंगा : डीएमसीएच में सर्जरी भवन निर्माण को लेकर काफी जद्दोजहद के बाद गायनी परिसर में स्थित पारामेडिकल गर्ल्स छात्रावास पर आखिरकार बुलडोजर चला. प्रक्रिया शनिवार दोपहर तीन बजे से शुरू हुई. बीएमएसआइसिल के अधिकारी निखिल कुमार की देखरेख में कार्य शुरू किया गया. हालांकि पुराने मकान के मजबूत स्तंभ को तोड़ने में बुलडोजर नाकाम साबित हो रहा था. इस वजह से तोड़ने की प्रक्रिया को फिलहाल रोक देना पड़ा. बुलडोजर से मकान के बाहरी छज्जा व अन्य हिस्से को तोड़ने की प्रक्रिया चलती रहेगी.
 
जानकारी के अनुसार विश्वकर्मा पूजा के बाद छात्रावास को तोड़ने के लिये पोकलेन मशीन का उपयोग किया जाएगा. इसके बाद चयनित स्थल पर बने पारामेडिकल गर्ल्स होस्टल व अन्य मकानों को तोड़ने का कार्य होगा. बीएमएसआइसिल के अधिकारियों ने छह मंजिला सर्जरी भवन के निर्माण को लेकर गायनी परिसर का जायजा लिया. इस क्रम में 400 बेड वाले सर्जरी भवन की निर्माण को लेकर पारा मेडिकल गर्ल्स छात्रावास को जल्द से जल्द तोड़ने का निर्देश दिया.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement