crime

  • Dec 8 2019 1:33AM
Advertisement

फर्जी कागजात जमा कर छह करोड़ निकाले

 चास : चास के मेनरोड स्थित यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (चास बाजार शाखा) से 12 लोगों ने जमीन के फर्जी कागजात जमा कर करोड़ों रुपये की हेराफेरी की है. विभिन्न कंपनियों के नाम से एक-एक व्यक्ति ने 30-30 लाख रुपये से अधिक का लोन लिया है. 

 
अभी तक लोन का एक भी किस्त इन लोगाें ने नहीं भरा है. इसका ब्याज बढ़ कर 30 नवंबर 2019 तक कुल छह करोड़ 38 लाख 54 हजार रुपये हो गया है. यह लेनदारी बैंक के लिए सिरदर्द बन गया है. बैंक कर्मी भी जब इन लोगों व संस्थाओं के लिखे पते पर जाते हैं, तो वह फर्जी निकलता है.  शनिवार को यूबीआइ  के मुख्य प्रबंधक ज्योतिरंजन ने चास थाना में 12 लोगों (संस्थाओं) के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी है. 
 
शाखा प्रबंधक ने चास पुलिस को बताया कि इन सभी ने फर्जी कागजात के आधार पर कुल चार करोड़ 45 लाख 77 हजार रुपये लोन लिये. ब्याज वगैरह लेकर यह छह करोड़ 38 लाख 54 हजार रुपया हो गया है. लोन नहीं चुकाने पर बैंक ने जब गिरवी रखी संपत्ति को बेचना चाहा तो उन्हें पता चला की उक्त जमीन का डीड फर्जी है. ऐसे में बैंक व पुलिस के लिए आरोपियों को ढूंढ़ना एक चुनौती है. फिलहाल चास पुलिस प्राथमिकी दर्ज कर इनकी तलाश में जुटी है.
 
चास के यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का मामला 
12 लोगों ने किया फर्जीवाड़ा, शाखा प्रबंधक ने दर्ज करायी प्राथमिकी
ये हैं जालसाज : कुलदीप साव,शशिभूषण तिवारी, चिरंजी लाल अग्रवाल,  जयकिशन कुमार, प्रकाश गिरि, अमरेंद्र कुमार मिश्रा, राहुल कुमार, मनीष कुमार तिवारी,  नीलम अग्रवाल,  लोकेश कु गुप्ता, चंद्रिका प्रसाद, सुधीर कुमार
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement