Advertisement

crime

  • Sep 10 2019 1:05AM
Advertisement

रास्ते पर बने गेट में ताला लगाने पर हुआ विवाद, सेना व ग्रामीणों में भिड़ंत

 रांची/मेसरा : लालगंज महुआ टोली में रास्ते पर बने गेट में सेना द्वारा ताला लगाने को लेकर सोमवार रात लगभग सात बजे सेना के जवानों और ग्रामीणों के बीच विवाद हो गया़   सूचना पाकर खेलगांव की पुलिस मौके पर पहुंची और मामले को शांत करने का प्रयास किया, लेकिन सेना के जवान मानने को तैयार नहीं थे. इस पर ग्रामीणों ने गेट में लगा ताला तोड़ दिया. साथ ही चेतावनी दी कि मंगलवार को ताला लगाया गया, तो गेट उखाड़ कर फेंक दिया जायेगा. रात्रि नौ बजे तक दोनों पक्षों की बीच बहस होती रही. 

 
 बताया जाता है कि गेट लगाने से पहले उपायुक्त ऑफिस में ग्रामीण,  सेना और रांची के सांसद संजय सेठ के प्रतिनिधि अजय राय और मुकेश मुक्ता के बीच सुलह हुई थी कि सुरक्षा के मद्देनजर गेट लगने दिया जाये़  साथ ही  इस बात पर भी सहमति बनी थी कि गेट में कभी ताला नहीं लगाया जायेगा. 
 
 सेना के प्रतिनिधि ने कहा था कि  ग्रामीणों को इस रास्ते से आने-जाने में  कभी दिक्कत नहीं होगी़  ग्रामीण अपना आइडी दिखायेंगे और उन्हें आने-जाने दिया जायेगा़   लेकिन सोमवार की रात अचानक सेना ने योजना बना कर  गेट में ताला लगा  दिया, इससे ग्रामीण आक्राेशित हो गये़   ग्रामीणों ने संतरी से कहा कि आप लोग ताला खोल दे़ं     
 
हमारे बच्चे ट्यूशन  और स्कूल गये हैं कैसे आयेंगे़   इस पर सेना के जवानों ने कहा कि हमें ऊपर से आदेश है हम गेट नहीं खोल सकते हैं.  इसी बात को लेकर ग्रामीण ने विरोध जताया. साथ ही खेलगांव थाना प्रभारी को गेट पर बुलाया. उनके आग्रह  के बाद भी सेना के जवानों ने गेट का ताला नहीं खोला़  लिहाजा आक्रोशित होकर  ग्रामीणों ने गेट का ताला तोड़ दिया. यह भी कहा कि अगर ताला बंद होगा, तो कल के बाद गेट को ही तोड़ देंगे़
 
पुलिस ने किया हस्तक्षेप
सोमवार रात अचानक सेना ने योजना बना कर गेट में ताला लगा  दिया, इससे ग्रामीण आक्राेशित हो गये
खेलगांव पुलिस ने सेना के जवानों को समझाया, लेकिन वे मानने को तैयार नहीं थे
 
Advertisement

Comments

Advertisement

Other Story

Advertisement