Advertisement

crime

  • Jul 21 2019 12:40AM
Advertisement

पत्नी पर करता था शक सिर से अलग किया धड़

 पति सहित तीन गिरफ्तार

बाली के जेटिया घाट पर बैग में बंद मिले थे सिर व शरीर के बाकी अंश
 
हावड़ा : गुरुवार सुबह बाली के जेटिया घाट पर एक महिला की सिर कटी लाश की गुत्थी पुलिस ने दो दिनो‍ं में सुलझा दिया. हालांकि आरोपी खुद अपनी गलतियों की वजह से जाल में फंस गया. घंटों पूछताछ के बाद आरोपी पति ने जुर्म कबूल कर लिया. उसने ही पत्नी के सिर को धड़ से अलग किया. फिर उसके बाकी अंगों को भी काटा.
 
इस पूरे प्रकरण में दो लोगों ने साथ दिया. शव को दो बैग में रख कर जेटिया घाट में फेंक दिया. शनिवार को तीनों आरोपियों को हावड़ा अदालत में पेश किया गया. मजिस्ट्रेट ने आरोपियों को पुलिस हिरासत में भेज दिया है. 
आरोपियों के नाम उपेंद्र रजक (पति), दिलावर खान और शकलीन शमीम हैं. घटना की जानकारी डीसी (उत्तर) अमित सिंह राठौर ने दी.
गुरुवार सुबह जेटिया घाट पर गंगा में नहा रहे लोगों ने दो बैग देखे.
 
एक बैग की चेन आधी खुली थी. बैग में एक महिला का सिर देखा गया. खबर बाली थाना को दी गयी. मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों बैग को कब्जे में लिया. एक बैग में सिर, पेट और शरीर का बाकी हिस्सा था. दूसरे बैग में पैंट, कमीज, भुजाली और चाकू मिला. बाली थाना ने सभी थानों को एक महिला के सिर मिलने की सूचना दे दी.
 
गुरुवार शाम शिवपुर थाना अंतर्गत गणेश चटर्जी लेन में रहनेवाला उपेंद्र रजक पत्नी की गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराने थाने पहुंचा. लापता पत्नी का नाम सोनी रजक बताया. पुलिस को पत्नी की तस्वीर भी दी.
 
 शिवपुर थाना ने सभी थानों के साथ बाली थाना को भी लापता महिला की तस्वीर भेज दी. यहीं से पुलिस को पहला सुराग मिला. लापता महिला की तस्वीर और जेटिया घाट में मिलनेवाला सिर एक ही महिला का पाया गया. पुलिस उपेंद्र रजक से पूछताछ शुरू की. बयान विरोधाभासी था. शिवपुर से लेकर जेटिया घाट तक लगे सभी सीसीटीवी फूटेज को खंगाला गया.
 
फूटेज पुलिस के लिए मददगार साबित हुआ. फूटेज में देखा गया कि गुरुवार सुबह उपेंद्र और दो युवक हाथों में बैग लेकर शिवपुर से टैक्सी पर सवार हुए. टैक्सी से तीनों बाली खाल पहुंचे. यहां टैक्सी छोड़ दी. यहां से तीनों रिक्शा लेकर जेटिया घाट पहुंचे और गंगा में दो बैग फेंक दिये. आरोपी पति को फिर से पूछताछ के लिए बुलाया गया. आखिरकार, उसने कबूल कर लिया कि उसने ही पत्नी की हत्या की है.   
 
कैसे दिया वारदात को अंजाम 
 
उपेंद्र धोबी है. उसके दो बच्चे हैं. 10 साल पहले शादी हुई थी. दंपती के बीच रिश्ते अच्छे नहीं थे. आरोप है कि सोनी का दूसरे युवक से संबंध था. रोजाना के झगड़े और पत्नी के आचरण से पति तंग हो चुका था. इसी बीच शिवपुर के चौड़ा बस्ती के रहनेवाले दिलावर खान और शकलीन शमीम से उसकी मुलाकात हुई. दोनों ड्रग्स लेते हैं. उपेंद्र इन दोनों को ड्रग्स लेने के लिए रुपये देने लगा. दोस्ती गहरी हो गयी. तीनों ने हत्या की साजिश रची. उपेंद्र ने 30 हजार रुपये भी दिये.
 
बड़ाबाजार से भुजाली व अन्य हथियार खरीदे गये. बुधवार रात दिलावर और शकलीन ड्रग लेकर उपेंद्र के घर पहुंचा. उपेंद्र ने पत्नी को चाय में नींद की दवाई मिला कर पिला दी. पत्नी कमरे में सो गयी. दो बच्चों को दूसरे के घर भेज दिया. दिलावर और उसका साथी बाहर बैठे थे कि अचानक कमरे के अंदर से आवाज आयी. उपेंद्र पत्नी सोनी की सिर को धड़ से अलग कर चुका था. इसके बाद तीनों ने शरीर के बाकी हिस्सों को काट कर अलग किया.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement