Advertisement

crime

  • May 27 2019 6:24AM
Advertisement

कुमारग्राम में तृणमूल समर्थक पर धारदार हथियार से हमला, घायल

 कुमारग्राम :  लोकसभा चुनाव परिणाम घोषित होते ही अलीपुरद्वार जिले में राजनीतिक हिंसा जोड़ पकड़ रही है. कहीं पार्टी ऑफिस पर कब्जा तो कहीं मारपीट की घटनाएं हो रही है. रविवार सुबह अलीपुरद्वार 2 नंबर ब्लॉक के भाटिबाड़ी दक्षिण कुमारिजान गांव में तेज धारदार के हमले में एक युवक गंभीर रूप से जख्मी हो गया. 

 
घटना को लेकर स्थानीय भाजपा कार्यकर्ता रमेन सरकार, भवेश सरकार, कृष्ण सरकार व विष्णु सरकार के खिलाफ तृणमूल समर्थकों ने थाने में शिकायत दर्ज करवायी है. पुलिस मामले की छानबीन कर रही है. 
 
 जानकारी मिली है कि घटना के बाद रविवार सुबह से भाटीबाड़ी में तृणमूल कांग्रेस व भाजपा के समर्थकों के बीच जमकर झड़प हुआ. स्थानीय सूत्रों से पता चला है कि एक सड़क को लेकर दोनों पक्षों में पुराना विवाद था. इसे लेकर विवाद होने का अनुमान लगाया जा रहा है.
 
 जख्मी रंजन कुमार दास सिलीगुड़ी के एक बैंक एटीएम का सुरक्षाकर्मी है. शनिवार रात रंजन सिलीगुड़ी से अपने घर लौटा था. रविवार सुबह 7 बजे एक दुकान में कुछ खरीदने गया था. उसी समय कुछ पड़ोसी भाजपा कार्यकर्ता रंजन पर राम दाव लेकर हमला कर दिया. उसपर अंधाधुंध वार करने से वह लहुलुहान हो गया. 
 
स्थानीय लोगों के इकट्ठा होने पर बदमाश भाग निकले. अलीपुरद्वार जिला अस्पताल के बेड से जख्मी रंजन ने बताया कि वह किसी राजनैतिक पार्टी में नहीं है. उसके बड़े भाई तृणमूल पार्टी समर्थक है. आरोपी लगातार उनके परिवार को तंग कर रहे है. एक दिन पहले उसके घर के सुपारी के पेड़ काट डाले. फिर सुबह रंजन पर हमला बोल दिया. 
 
भाजपा के अलीपुरद्वार जिलाध्यक्ष गंगाप्रसाद शर्मा ने कहा भाजपा मारपीट में विश्वास नहीं रखती है. उनका कहना है कि तृणमूल कार्यकर्ता भाजपाइयों को मारपीट के लिए उकसा रहे है. 
 
शांति कायम रखने के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील की गयी है. वहीं तृणमूल कांग्रेस नेता अलीपुरद्वार 2 नंबर पंचायत समिति के अध्यक्ष अनुप दास ने कहा कि लोकसभा चुनाव जीतने के बाद भाजपा पूरे राज्य में आतंक कायम कर रही है. सीपीएम की मदद से भाजपा इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रही है. दोषियों की जल्द गिरफ्तारी व कड़ी सजा की मांग की गयी है. इधर जख्मी रंजन को बेहतर इलाज के लिए सिलीगुड़ी में लाया गया है. मामले की छानबीन चल रही है. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement