Advertisement

crime

  • Apr 16 2019 1:50AM
Advertisement

लापता मासूम की हत्या

 एक दिन पहले घर से हो गयी थी गायब, खोजबीन के दौरान लाश मिलने पर फैली सनसनी

हत्यारों का नहीं मिला कोई सुराग, मामले की जांच में जुटी पुलिस
 
बेतिया : बानुछापर ओपी के अवरैया लाला टोला में रविवार की शाम से गायब जितेंद्र प्रसाद की दो वर्षीय मासूम बिटिया शिवानी की हत्या कर दी गई है. इसका खुलासा सोमवार की सुबह उस समय हुआ, जब बच्ची की लाश उसके घर से 50 कदम की दूरी पर स्थित फिरोज आलम के दरवाजे पर बने चापाकल के सोख्ता से बरामद हुई.
 
हत्यारों ने लाश को सोख्ता से डालकर स्लैब से ढ़क दिया था. सूचना पर पहुंची पुलिस ने लाश को कब्जे में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. हालांकि बच्ची की हत्या क्यों और किसने की? इस बारे में अभी तक कोई सुराग नहीं लग सका है. पुलिस ने बताया कि मृतका के पिता जितेंद्र साह की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की जा रही है. मृत्यु के कारणों का पता अभी नहीं चल पाया है. घटनास्थल पर पहुंचे डाग स्क्वायड की टीम के सहयोग से भी कुछ विशेष जानकारी नहीं मिल पायी.
 
शिवानी के दादा हरिचन्द्र साह ने बताया कि रविवार की देर शाम पांच बजे शिवानी घर से सटे खाली जगह पर बच्चों के साथ खेल रही थी. उसवक्त वें (दादा), लड़की के पिता जितेन्द्र साह व अन्य परिजन खेत में कटनी करने चले गए थे. घर पर उनकी बहू सीमा देवी ही थी. वें लोग जब कटनी करके आए तो मालूम चला कि शिवानी नहीं मिल रही है. गांव के लोगों ने मिलजुलकर शिवानी की तलाश आस पड़ोस व खेतों में की.
 
पास में लगे रामनवमी के मेले में लाउडस्पीकर से प्रचार करवाया गया, लेकिन वह नहीं मिली. सोमवार की सुबह फिरोज आलम की पत्नी घर से बाहर निकली तो देखा कि सोख्ते के बगल में स्थित छोटी नाली में मुर्गी का बच्चा गिरा हुआ है. जब वह मुर्गी के बच्चे को निकालने गयी तो उसकी नजर सोख्ते पर रखे गए स्लैब पर पड़ी. स्लैब थोड़ा खिसका हुआ था. उसमें बच्ची का शव दिखायी दिया. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement

Other Story

Advertisement