Advertisement

crime

  • Feb 12 2019 5:36AM
Advertisement

मालदा : छह लोगों को जिंदा जलानेवाला गिरफ्तार

मालदा :  छह लोगों को जिंदा जलानेवाला गिरफ्तार

 मालदा : मानिकचक में 6 लोगों को जिंदा जलाने के कांड का मुख्य आरोपी माखन मंडल गिरफ्तार कर लिया गया है. सोमवार  दोपहर को मोथाबाड़ी और मानिकचक थाना पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई में मोथाबाड़ी थानांतर्गत रामनाथटोला इलाके से आरोपी को देखकर उसका पीछा किया तो आरोपी ने छत से छलांग लगायी. 

 
पुलिस से बचने की कोशिश में भाग रहे माखन के गले में एक निकली हुई रॉड घुस गयी है जिससे उसे गंभीर हालत में तत्काल मालदा मेडिकल कॉलेज-अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं पर पुलिस की हिफाजत में उसका इलाज किया जा रहा है. 
 
 उल्लेखनीय है कि एनवीएफ से सेवानिवृत्त पिता की जगह नौकरी को लेकर चार भाइयों में विवाद था. उसी विवाद के बाद माखन मंडल ने आधी रात को सुनियोजित तरीके से घर में आग लगा दी और बाहर से छिटकनी लगा दी. इस घटना में कुल छह लोगों की जलकर मौत हुई है.
 
 जबकि अभी भी परिवार के तीन अन्य सदस्यों का इलाज अस्पताल के बर्न यूनिट में चल रहा है. उनकी हालत गंभीर है. मेडिकल कॉलेज के उपाधीक्षक डॉ. ज्योतिष चंद्र दास ने बताया कि छोटू मंडल (7), बबिता मंडल (23) और विशाल मंडल (13) का इलाज चल रहा है. आगजनी की घटना मालदा जिले के मानिकचक थानांतर्गत मदनटोला गांव में बीते तीन फरवरी की रात को घटी थी. 
 
उसी रात को प्रिया मंडल (ढाई वर्ष) और देवश्री मंडल (छह वर्ष) की मौत हो गयी थी. बाद में इलाज के दौरान चार फरवरी को विकास मंडल (35) और उनके भाई गोविंद मंडल (29) की मौत हो गयी जबकि पांच फरवरी को राखी मंडल (24) और गोपी मंडल (28) की मौत हो गयी थी. पुलिस सूत्र के अनुसार मामले की गहन जांच के लिये कोलकाता से फॉरेंसिक टीम जल्द आ रही है.  उल्लेखनीय है कि परिवार के मुखिया और दिवंगत गेदुधर मंडल एनवीएफ में कार्यरत थे. 
 
सेवाकाल में ही उनका देहांत हो गया था. उनके चार पुत्र, विकास, गोपी, माखन और गोविंद. आपसी रजामंदी के आधार पर पिता की जगह नौकरी कनिष्ठ पुत्र गोविंद को मिली. इसी को लेकर विवाद शुरू हुआ. संझला भाई और घटना का आरोपी माखन मंडल नौकरी पर दावा कर रहा था. इसको लेकर परिवार में कलह मचा रहता था. आखिर में माखन मंडल ने बदले की आग में जलते हुए पूरे परिवार को ही जिंदा जला देने की साजिश रचकर उसे अंजाम दे डाला. नतीजा आज पूरा परिवार तबाह हो गया है और परिवार के मासूम बच्चों समेत छह लोगों की मौत हो चुकी है. 
 
 पुलिस सूत्र के अनुसार इस हाई-प्रोफाइल कांड की गहन जांच के लिये कोलकाता से फॉरेंसिक टीम ने पहुंच कर बिसरे को एकत्रित किया है. इस बीच कांड का आरोपी माखन मंडल की गिरफ्तारी के बाद इस घटना की सच्चाई अदालत के समक्ष आ जायेगी. माखन मंडल गिरफ्तारी से बचने के लिये फरार था. उसके इलाज के बाद उसे पूछताछ के लिये पुलिस रिमांड पर लेने की अर्जी अदालत से दी जायेगी. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement