Advertisement

crime

  • Nov 10 2018 2:46AM

भागलपुर में रची गयी थी तबरेज आलम की हत्या की साजिश

भागलपुर में रची गयी थी तबरेज आलम की हत्या की साजिश
पटना :  कोतवाली थाने के समीप हुई तबरेज आलम उर्फ तब्बू की हत्या की साजिश भागलपुर में रची गयी थी. हत्या कराने की जिम्मेदारी रूमी मलिक को दी गयी थी. रूमी मलिक ने बबलू व गुड्डू को हत्या करने को कहा था. इसके बाद बबलू व गुड्डू घटना को अंजाम देकर फरार हो गये थे. यह जानकारी पुलिस के समक्ष रिमांड पर लिये गये डब्ल्यू मुखिया ने पुलिस को दी है. पुलिस ने डब्ल्यू मुखिया को रिमांड पर लिया था. उसकी दो दिनों की अवधि खत्म होने के बाद उसे वापस जेल भेज दिया गया. 
 
 हत्या से पहले जुटायी थी दिनचर्या की जानकारी : डब्ल्यू मुखिया, रूमी मलिक आदि सभी जानते थे कि तबरेज कब किस समय आता है और कब जाता है. आमतौर पर वह कहीं जाता था तो उसके साथ दो-चार हथियारबंद लोग भी रहते थे, लेकिन शुक्रवार के दिन वह नमाज पढ़ने के लिए अकेले ही जाता था. यह जानकारी सभी को थी जो शूटरों के लिए काफी था. हत्या करने के एक माह पहले योजना बनने के बाद दो शुक्रवार को उसके कोतवाली थाने के समीप स्थित नमाज पढ़ने के आने के समय का अच्छे से सत्यापन किया गया.
 
इसमें दोनों शुक्रवार को आने का समय लगभग एक ही निकला था. इसके बाद  बबलू व गुड्डू प्लानिंग कर पहले से बाइक लेकर उसकी गाड़ी के समीप खड़े थे. हर बार की तरह तबरेज आलम पैदल ही अपनी गाड़ी की ओर आने लगा और पहले से घात लगाये बबलू व गुड्डू ने उस पर गोलियाें की बरसात कर दी. तबरेज को गोली लगी और उसकी मौत घटनास्थल पर ही हो गयी. इसके बाद वे दोनों हत्या करने के बाद कुछ दूर बाइक से आये और बाइक को वहीं लावारिस छोड़ कर फरार हो गये.
 

Advertisement

Comments

Advertisement