Advertisement

crime

  • Jul 12 2018 4:13AM

सरकारी नौकरी का झांसा देकर लाखों की ठगी, बेरोजगारों से ठगते थे पांच से छह लाख रुपये

सरकारी नौकरी का झांसा देकर लाखों की ठगी, बेरोजगारों से ठगते थे पांच से छह लाख रुपये
कोलकाता : फर्जी सरकारी नौकरी दिलाने का प्रलोभन देकर बेरोजगारों से लाखों रुपये ठगनेवाले गिरोह के पांच सदस्यों को हेयर स्ट्रीट थाने की पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस के हाथ लगे आरोपियों के नाम सुभब्रत मजुमदार, निशान बांसफोर, तन्मय सामंत उर्फ बर्का, मोहम्मद खुर्शीद आलम और अबू जफर मंडल है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक सुरोजीत चक्रवर्ती ने इसकी शिकायत हेयर स्ट्रीट थाने में दर्ज करायी थी.
 
उसने शिकायत में बताया कि सोशल मीडिया के जरिये उन्हें सरकारी विभिन्न विभागों में रुपये के बदले नौकरी मिलने की जानकारी मिली थी. इसके बाद उन्होंने इस गिरोह से संपर्क किया. उसे फॉरेस्ट विभाग में नौकरी देने के बदले उससे पांच लाख 40 हजार रुपये ले लिये गये. जिसके बाद उन्हें कुछ समय के लिए उसे सुंदरवन में अस्थायी नौकरी दी. दो महीने तक उसे तनख्वाह भी मिला. जिसके बाद से उसे तनख्वाह मिलना बंद हो गया. 
 
जब उसे पहले महीने का तनख्वाह मिला तो उसने अपने चचेरे भाई को भी चार लाख 30 हजार रुपये देकर इसी गिरोह के हाथों नौकरी दिलाई. उसके भाई को भी प्रथम महीने फॉरेस्ट विभाग में नौकरी का ज्वाइनिंग लेटर दिया गया. फिर उसे भी सुंदरवन में नौकरी दी गयी. दो महीने के बाद तनख्वाह आना बंद होने पर उसे संदेह हुआ.
 
बाद में असली फॉरेस्ट विभाग में इस बारे में खबर लेने पर सभी कुछ फर्जी निकला. राइटर्स बिल्डिंग के पास सड़क किनारे रुपये लेने के कारण इसकी शिकायत हेयर स्ट्रीट थाने में दर्ज करायी गयी. पुलिस ने कार्रवाई करते हुए गुप्त जानकारी के आधार पर गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है. सभी से पूछताछ हो रही है.
 

Advertisement

Comments