Advertisement

cricket

  • Oct 13 2019 5:39PM
Advertisement

दक्षिण अफ्रीका पर कोई रहम नहीं, रांची में करेंगे क्लीन स्वीप : कोहली

दक्षिण अफ्रीका पर कोई रहम नहीं, रांची में करेंगे क्लीन स्वीप : कोहली
pti photo

पुणे : भारतीय कप्तान विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका को आगाह करते हुए रविवार को कहा कि उनकी टीम शृंखला में आगे ढिलाई नहीं बरतेगी और रांची में शुरू होने वाले तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में भी जीत दर्ज करके क्लीन स्वीप करने की कोशिश करेगी.

 

भारत ने दूसरे टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका को पारी और 137 रन से हराकर तीन मैचों की शृंखला में 2-0 से अजेय बढ़त हासिल कर ली है. कोहली ने मैच के बाद कहा, टेस्ट चैंपियनशिप पर गौर करने पर हर मैच महत्वपूर्ण बन गया है चाहे वह स्वदेश में हो या विदेश में. प्रारूप ऐसा ही है. इसलिए हम तीसरे टेस्ट मैच में भी किसी तरह की ढिलाई नहीं बरतेंगे.

उन्होंने कहा, कोई भी किसी भी समय ढिलाई नहीं बरतेगा. हम तीसरे टेस्ट में भी जीत के लिये उतरेंगे और उम्मीद है कि 3-0 से शृंखला जीतेंगे. उप कप्तान अंजिक्य रहाणे के साथ चौथे विकेट के लिये 178 रन की साझेदारी के बारे में कोहली ने कहा, मैं जिंक्स (रहाणे) के साथ बल्लेबाजी का वास्तव में लुत्फ उठाता हूं. हम जब साझेदारी निभाते हैं तो हम मैच को आगे ले जाते हैं.

उन्होंने कहा, आपको सुबह नयी गेंद का सामना करने के लिये तैयार रहना चाहिए. जब परिस्थितियां मुश्किल थी तब हमने अच्छा खेल दिखाया. जब भी मैंने गलत किया उसने मुझे बताया और इसी तरह से मैं उसे बताता रहा. कोहली ने ऋद्धिमान साहा के बारे में कहा, वह विशाखापत्तनम में वापसी करने पर थोड़ा नर्वस था, लेकिन इस मैच में उसने शानदार विकेटकीपिंग की। अश्विन ने भी शानदार वापसी की.

उन्होंने कहा, जब हमने टीम के रूप में शुरुआत की तो हमारी टेस्ट रैंकिंग सात थी. हमारे पास आगे बढ़ना ही एकमात्र रास्ता था. हमने कुछ चीजें तय की और प्रत्येक को कड़ी मेहनत और अभ्यास करने के लिये कहा. हम भाग्यशाली हैं कि हमारे पास पिछले तीन चार साल से खिलाड़ियों का एक अच्छा समूह है. सभी खिलाड़ियों में लगातार सुधार के लिये भूख और जुनून देखकर अच्छा लगता है.

दक्षिण अफ्रीकी कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने स्वीकार किया कि भारत शृंखला जीतने का हकदार था, उन्होंने कहा, उन्हें स्वदेश में हराना बेहद मुश्किल है और रिकार्ड इसका गवाह है. हम जानते हैं कि उप महाद्वीप में आपकी पहली पारी महत्वपूर्ण होती है. अच्छे स्कोर से आपकी संभावना बन जाती है.

डुप्लेसिस ने कहा, लेकिन जिस तरह से भारत ने बल्लेबाजी की विशेषकर विराट का दोहरा शतक. इसके लिये काफी मानसिक मजबूती चाहिए. दो दिन तक मैदान पर क्षेत्ररक्षण करने से आप थक सकते हो. विशेष दूसरे दिन शाम को बल्लेबाज मानसिक रूप से कमजोर थे.

टेस्ट मैच में स्पिनर के बजाय अतिरिक्त तेज गेंदबाज उतारने के बारे में उन्होंने कहा, इस पिच के लिहाज से यह सही फैसला था. वर्नोन फिलैंडर और कैगिसो रबादा ने पहले कुछ दबाव बनाया, लेकिन हमें एक और गेंदबाज की जरूरत थी जो दबाव बना सके. एक युवा तेज गेंदबाज (एनरिच नोर्जे) जो पदार्पण कर रहा हो उससे यह बहुत उम्मीद लगाना अनुचित है. भारत ने अच्छी गेंदबाजी की.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement