Advertisement

cricket

  • Oct 13 2019 8:07PM
Advertisement

टीम इंडिया ने लगातार 11वीं सीरीज जीतकर ऑस्‍ट्रेलिया का वर्ल्‍ड रिकॉर्ड तोड़ा

टीम इंडिया ने लगातार 11वीं सीरीज जीतकर ऑस्‍ट्रेलिया का वर्ल्‍ड रिकॉर्ड तोड़ा
pti photo

पुणे : गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर भारत ने दक्षिण अफ्रीका को दूसरे क्रिकेट टेस्ट में चौथे ही दिन रविवार को एक पारी और 137 रन से हराकर तीन मैचों की शृंखला में 2-0 की विजयी बढ़त बना ली.

 

इसके साथ ही टीम इंडिया ने कई रिकॉर्ड अपने नाम कर लिये. अपनी सरजमीं पर भारतीय टीम ने यह रिकार्ड लगातार 11वीं शृंखला जीती है. इसके साथ ही अपनी सरजमीं पर लगातार टेस्‍ट सीरीज जीतने का ऑस्‍ट्रेलिया के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया. ऑस्‍ट्रेलिया ने 1994/95 से 2000/01 के बीच 10 सीरीज अपने घर में जीता. वहीं 2004 से 2008/09 के बीच भी ऑस्‍ट्रेलिया ने लगातार 10 टेस्‍ट सीरीज जीतने का रिकॉर्ड बनाया था. 1975/76 से 1985/86 के बीच सबसे अधिक सीरीज जीतने का रिकॉर्ड वेस्‍टइंडीज (8) के नाम था.

* कोहली ने भी अपनी कप्‍तानी में बनाया रिकॉर्ड

दक्षिण अफ्रीका को बुरी तरह पीटने के बाद कप्‍तान विराट कोहली ने भी अपने नाम कप्‍तानी में नया रिकॉर्ड दर्ज कर लिया. कोहली का बतौर कप्‍तान यह 50वां टेस्‍ट मैच था, जिसमें लगातार 30 मैचों में भारत को जीत मिली है. पहले 50 टेस्‍ट में सबसे अधिक मैच जीतने वाले कप्‍तानों में कोहली दुनिया के तीसरे कप्‍तान बन गये हैं.

इस मामले में ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व कप्‍तान स्‍टीव वॉ सबसे अधिक 37 मैच जीते और टॉप पर मौजूद हैं. वहीं ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व कप्‍तान रिकी पोंटिंग ने भी अपनी कप्‍तानी में पहले 50 मैचों में 35 जीत दर्ज की थी. इस मामले में कोहली ने विव रिचर्ड्स के रिकॉर्ड 27 जीत को पीछे छोड़ दिया.

* 2008 के बाद दक्षिण अफ्रीका को फालोआन खेलने पर मजबूर करने वाली पहली टीम बना भारत

दक्षिण अफ्रीका को 2008 के बाद किसी टेस्ट शृंखला में फालोआन खेलने पर मजबूर करने वाली भारत पहली टीम बन गई. फालोआन खेलते हुए वेर्नोन फिलैंडर और केशव महाराज ने आखिर में जीत के लिये भारत का इंतजार लंबा कराने की कोशिश की लेकिन तेज गेंदबाज उमेश यादव ने 67वें ओवर में फिलैंडर (37) और कैगिसो रबाडा (चार) को पवेलियन भेजा.

इसके अगले ओवर में रविंद्र जडेजा ने दूसरी ही गेंद पर महाराज (22) को पगबाधा आउट किया. दक्षिण अफ्रीकी टीम ने रिव्यू लिया लेकिन फैसला गेंदबाज के पक्ष में रहा. पहली पारी में 275 रन बनाने वाली दक्षिण अफ्रीकी टीम दूसरी पारी में 189 रन पर आउट हो गई.

भारत ने अपनी पहली पारी पांच विकेट पर 601 रन (घोषित) की थी. दक्षिण अफ्रीका का शीर्षक्रम दूसरी पारी में भी नाकाम रहा. भारत के लिये जडेजा ने 21.2 ओवर में 52 रन देकर तीन, यादव ने आठ ओवर में 22 रन देकर तीन और रविचंद्रन अश्विन ने 21 ओवर में 45 रन देकर दो विकेट लिये.

मोहम्मद शमी और ईशांत शर्मा को एक एक विकेट मिला. लंच के बाद रविंद्र जडेजा ने क्विंटोन डिकाक (पांच) और तेम्बा बावुमा (38) को आउट किया. वहीं मोहम्मद शमी ने सेनुरान मुथुस्वामी (नौ) को पवेलियन भेजा. सुबह के सत्र में डीन एल्गर ने 72 गेंद में 48 रन बनाकर अकेले किला लड़ाने की कोशिश की लेकिन रविचंद्रन अश्विन ने उन्हें पवेलियन भेजा.

अश्विन आठ ओवर में आठ रन देकर दो विकेट ले चुके हैं. पहली पारी में विकेट नहीं ले सके ईशांत शर्मा ने दूसरी ही गेंद पर एडेन मार्कराम (0) को पवेलियन भेजा. दूसरे छोर पर खड़े एल्गर से लंबी बातचीत के बाद मार्कराम ने रिव्यू नहीं लिया हालांकि टीवी रिप्ले से जाहिर था कि गेंद लेग स्टम्प के बाहर से जा रही थी.

पहली पारी में भी शानदार कैच लपकने वाले विकेटकीपर रिधिमान साहा ने थ्यूनिस डि ब्रून का एक और दर्शनीय कैच लपका. एल्गर और कप्तान फाफ डु प्लेसी (54 गेंद में पांच रन) ने 49 रन जोड़े. डु प्लेसी को अश्विन ने आफ ब्रेक पर आउट किया. वहीं एल्गर ने मिडआफ पर खड़े उमेश यादव को कैच थमाया.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement