China

  • Jan 19 2020 10:44AM
Advertisement

रहस्यमयी वायरस की चपेट में चीन, भारत आने वाले चीनी यात्रियों की एयरपोर्ट पर ही जांच

रहस्यमयी वायरस की चपेट में चीन, भारत आने वाले चीनी यात्रियों की एयरपोर्ट पर ही जांच

बीजिंगः चीन में एसएआरएस से मिलते-जुलते वायरस से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या बढ़ रही है और इसके 17 और नए मामले सामने आए हैं, जिनमें से तीन की हालत गंभीर है. वायरस से संक्रमित होने के ये नए मामले वुहान में ही सामने आए हैं और माना जा रहा है कि इस वायरस का केन्द्र भी वुहान शहर ही है. यह वायरस एसएआरएस (सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम) से मिलता जुलता है.

शहर प्रशासन ने कहा कि वुहान में वायरस से अब तक 62 लोग संक्रमित हैं जिनमें से आठ की हालत गंभीर है. वहीं 19 लोगों को उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई है. शेष संक्रमित लोगों का एकांत स्थान में इलाज चल रहा है. इस वायरस से अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है. इस वायरस से संक्रमित लोगों में निमोनिया जैसे लक्षण हो जाते हैं.

अधिकारियों ने बताया कि वे शहर भर में निमोनिया के मामलों की जांच बढ़ा रहे हैं ताकि वायरस से संक्रमित लोगों की पहचान की जा सके. इससे पहले लंदन के इम्पीरियल कॉलेज के वैज्ञानिकों ने ‘एमआरसी सेंटर फॉर ग्लोबल इंफेक्शियस डिसीज एनालिसिस' के साथ मिलकर शुक्रवार को एक अनुसंधान पत्र प्रकाशित किया, जिसमें कहा गया है कि शहर में इस वायरस से प्रभावित लोगों की संख्या 1700 तक हो सकती है. यह वायरस खतरे की घंटी है क्योंकि 2002-2003 में मुख्यभूमि चीन में इससे 349 लोग और हांगकांग में 299 लोग मारे गए थे. 

 
मुंबई हवाईअड्डे पर यात्रियों की होगी निमोनिया जांच 
चीन से आने वाले हवाई यात्रियों को मुंबई हवाईअड्डे पर थर्मल जांच से गुजरना होगा. वर्तमान में चीन की एयर चाइना और अफ्रीकी विमानन कंपनी रवांड एयर चीन से मुंबई के बीच उड़ान भरती है.
 
मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा लिमिटेड ने एक विज्ञप्ति में बताया हवाईअड्डा स्वास्थ्य संगठन (एपीएचओ) ने हवाईअड्डे के पूर्व-आव्रजन क्षेत्र में एक स्वास्थ्य काउंटर शुरू किया है और वहां थर्मल स्कैनर लगाए हैं. मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा लिमिटेड ने कहा कि चीन से मुंबई यात्रा करने वाले हर यात्री को एहतियात के तौर पर यहां थर्मल जांच से गुजरना होगा.
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement