Advertisement

champaran West

  • Feb 11 2019 8:57PM

वाल्मीकिनगर से पटना जलमार्ग से जुड़ेगा, बनारस से नेपाल तक शुरू होगी जल परिवहन सेवा : गडकरी

वाल्मीकिनगर से पटना जलमार्ग से जुड़ेगा, बनारस से नेपाल तक शुरू होगी जल परिवहन सेवा : गडकरी

बगहा : केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, पोत परिवहन, जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को अनुमंडलीय मैदान में 366.62 करोड़ की पांच विभिन्न परियोजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया. उन्होंने कहा कि इस साल के अंत तक वाल्मीकिनगर से पटना जल मार्ग से जुड़ जायेगा. इसके लिए बगहा के कैलाश नगर में टर्मिनल बनाया जायेगा. जल मार्ग द्वारा 11.6 लाख मिलियन टन की ढुलायी की जायेगी. सड़क मार्ग की तुलना में 10 प्रतिशत कम खर्च पर जल मार्ग से माल ढुलायी की जायेगी. 

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि गन्ना किसानों को बेहतर लाभ के लिए गन्ना से इथेनॉल बनाने का कार्य किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि ब्राजील में चीनी का मूल्य 20 रुपया किलो है. लेकिन, यहां किसानों के हित को देखते हुए 34 रुपया किलो चीनी की दर से गन्ना मूल्य का निर्धारण किया गया है. इसके पहले केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, सांसद सतीश चंद्र दूबे, विधायक राघव शरण पांडेय, भागीरथी देवी और विनय बिहारी ने संयुक्त रूप से दीप जलाकर समारोह का उद्घाटन किया.

बनारस से नेपाल तक शुरू होगी जल परिवहन सेवा : गडकरी

  • अयोध्या-जनकपुर-रामजानकी मार्ग से बढ़ेगा पर्यटन
  • मोतिहारी में 2600 करोड़ की योजना का शिलान्यास
  • डुमरियाघाट में गंडक नदी में बनेगा फ्लोटिंग टर्मिनल
  • साहेबगंज-मुजफ्फरपुर से अरेराज तक बनेगा फोरलेन


मोतिहारी : केंद्रीय राजमार्ग, पोत परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने रामजानकी मार्ग का शिलान्यास करते हुए कहा कि बनारस-हल्दिया नेपाल के बीच शीघ्र जल परिवहन सेवा शुरू होगी. इससे उद्योग-व्यापार को बढ़ावा मिलेगा. उन्होंने गंडक के त्रिवेणीघाट से बेतिया होते हाजीपुर तक जलमार्ग व डुमरियाघाट में फ्लोटिंग टर्मिनल बनाने की घोषणा की. गडकरी मोतिहारी में आयोजित तीन दिवसीय कृषि कुंभ में सोमवार को उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे.

इस दौरान उन्होंने करीब 26 सौ करोड़ की सड़क व अन्य योजनाओं का शिलान्यास किया. इसमें 21 सौ करोड़ की योजना पूर्वी चंपारण और पांच सौ करोड़ की योजना का लाभ गोपालगंज, सिवान, छपरा, वैशाली व मुजफ्फरपुर को मिलेगा. उन्होंने जोर देकर कहा कि बहुप्रतीक्षित राम जानकी पथ से पर्यटकों को अयोध्या, केसरिया बौद्ध स्तूप, सिद्धेश्वर धाम, सीतामढ़ी पुनौउरा धाम व जनकपुर नेपाल जाने में सुविधा होगी. इन सड़कों का निर्माण कार्य भी शीघ्र शुरू होगा. राम-जानकी मार्ग (84 किमी) पर 1300 करोड़, साहेबगंज-अरेराज (82 किमी) फोरलेन पर 1255 करोड़ रुपये खर्च होंगे. देवापुर से कोटवा तक भी उच्च पथ का निर्माण होगा. अरेराज के जुड़ने से सोमेश्वरनाथ महादेव मंदिर जानेवालों को सुविधा मिलेगी.

उन्होंने कहा कि वह दिन दूर नहीं जब देश के विभिन्न क्षेत्रों में हवा में चलनेवाली बस व पानी में उतरनेवाला जहाज होगा. उन्होंने किसानों से आह्वान किया कि कृषि कार्य के साथ अाधुनिक तकनीक को भी अपनाएं. गन्ना से बने इथनॉल का इस्तेमाल पेट्रोल व डीजल में किया जा रहा है. इथेनॉल बनाने वाला प्रोजेक्ट भी निकट भविष्य में लगेगा. इथेनॉल से बायोप्लास्टिक बोतल बनेगा, जो उपयोग के बाद 78 घंटे में मिट्टी का रूप ले लेगा. उन्होंने गन्ना से उत्पदित चीनी से डिटर्जेंट, हेयरवॉश, फेस क्रीम आदि निर्माण की भी लोगों को जानकारी दी. केंद्रीय कृषि सह किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह ने नितिन गडकरी को विकास पुरुष बताते हुए कहा कि वर्ष 2013-14 में 12 किमी प्रतिदिन सड़क बनती थी, जो अभी 27 किमी सड़क प्रतिदिन बन रही है.

रक्सौल से पीपराकोठी टू लेन सड़क का हुआ शिलान्यास
रक्सौल. केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने संयुक्त रूप से वर्षों से निर्माणाधीन रक्सौल-पीपराकोठी टू लेन सड़क का शिलान्यास किया. इसी दौरान रक्सौल से ही छपवा से बेतिया को जोड़ने वाली टू लेन सड़क व मनुवा-पटजिरवा पथ का लोकार्पण किया. इससे पूर्व कार्यक्रम का उद‍्घाटन मंत्री के साथ-साथ स्थानीय सांसद डॉ संजय जायसवाल व पूर्व राज्यसभा सदस्य साबिर अली ने दीप प्रज्वलित कर किया. कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा कि रक्सौल-पीपराकोठी टू लेन सड़क के निर्माण की शुरुआत अक्तूबर 2011 में हुई थी, जिसे 29 महीने में पूरा होना था. लेकिन, तांतिया कंस्ट्रक्शन के द्वारा समय पर काम नहीं किया गया. पथ पर 505 करोड़ की राशि खर्च होनी है. कार्यक्रम को पूर्व राज्यसभा सांसद साबिर अली, एनएचएआई के क्षेत्रिय प्रबंधक बिहार एके मिश्रा आदि ने संबोधित किया. कार्यक्रम का संचालन अनामिका कुमारी ने किया.

बगहा : 366.62 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास/उद्घाटन

  • 62.48 करोड़ से एनएच 28 बी के बगहा (91 किमी) में आरओबी सहित पहुंच पथ
  • 68.49 करोड़ से एनएच 28 बी के मंगलपुर (94 किमी) में आरओबी सहित पहुंच पथ
  • 128.9 करोड़ की लागत से मनुआपुल से योगापट्टी-नवलपुर रतवल चौक तक 37 किलोमीटर सड़क चौड़ीकरण
  • 12.91 करोड़ से वाल्मीकिनगर गंडक बराज से हाजीपुर गंगा संगम तक 300 किमी राष्ट्रीय जल मार्ग का निर्माण


लोकार्पण

  • 93.84 करोड़ की लागत से एनएच 28 के मिश्रौली से परसौनी तक 24 किलोमीटर टू लेन सड़क का चौड़ीकरण कार्य.
  • मोतिहारी : 26 सौ करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास
  • रक्सौल : रक्सौल से पीपराकोठी टू लेन सड़क का हुआ शिलान्यास
  • छपवा-मिसरौली व मनुवापुल-पटजिरवा पथ का रक्सौल से ही हुआ उद‍्घाटन


रक्सौल-पीपराकोठी टू लेन सड़क : शिलान्यास कर बोले गडकरी- चुनाव जितवाओ तो बनवाउंगा फोर लेन
रक्सौल : जिस सड़क को 2014 में बनकर तैयार होना था, उसका शिलान्यास सोमवार को केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने किया. 2010 में इंटिग्रेटेड चेक पोस्ट (आइसीपी) का शिलान्यास होने के बाद 10 अक्तूबर, 2011 को आइसीपी को पीपराकोठी फोरलेन से जोड़ने वाली टू लेन सड़क बनाने की शुरूआत हुई थी. 29 माह में सड़क तैयार करने का लक्ष्य था. लेकिन, सड़क निर्माण में लगी तांतिया कंस्ट्रक्शन के द्वारा सड़क नहीं बनाया गया और उसका टेंडर रद‍्द कर फिर से टेंडर जारी किया गया. उक्त सड़क का 55 फिसदी हिस्सा बनकर तैयार है.

शिलान्यास कार्यक्रम में स्थानीय सांसद डॉ संजय जायसवाल ने उक्त सड़क को फोर लेन करने की मांग रखी. इस पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मुझसे इस सड़क को फोर लेन बनाने की मांग की गयी है. चुनावी सिजन है. चुनाव जितवाओं तो बनवाउंगा फोर लेन सड़क. इससे पहले केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा कि वाजपेयी सरकार के पूर्व मंत्री टीआर बालू ने इस सड़क को फोर लेन बनाने की घोषणा की थी. वाजपेयी सरकार में भी इस रोड को फोर लेन बनाये जाने की घोषणा की गयी लेकिन बाद की सरकार ने इस सड़क को टू लेन बनाने का निर्णय लिया और सड़क कैसा बना, यह हम सबको पता है. उन्होंने कहा कि यह सड़क एक साल के अंदर बनकर तैयार हो जायेगी.

कार्यक्रम में पूर्व राज्यसभा सदस्य साबिर अली ने कहा कि काम कैसे किया जाता है, यह नितिन गडकरी से सिखा जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि मैं मुंबई में 30 सालों से रहता हूं और नितिन गडकरी के काम से परिचित हूं. पूर्व मंत्री रेणू देवी ने कहा कि एक गरीब का बेटा देश का प्रधानमंत्री बना है. देश हर क्षेत्र में विकास कर रहा है.

ये भी पढ़ें... देश में सर्वाधिक विकास दर वाला राज्य बना बिहार, 2017-18 में विकास दर 11 प्रतिशत के पार

Advertisement

Comments

Advertisement