Advertisement

champaran east

  • Mar 25 2017 6:14AM

चंपारण सत्याग्रह शताब्दी समारोह : नीतीश ने शराबबंदी कर गांधी का सपना साकार किया : अग्निवेश

चंपारण सत्याग्रह शताब्दी समारोह : नीतीश ने शराबबंदी कर गांधी का सपना साकार किया : अग्निवेश
मोतिहारी (पूर्वी चंपारण) : गांधी जी ने कहा था कि अंगरेजों से ज्यादा खतरनाक शराब है. बिहार के मुख्यमंत्री ने शराबबंदी कर गांधी जी का यह सपना साकार किया है. मैंने शराब के खिलाफ आंदोलन चलाया था, पर उस समय बिहार में शराबबंदी नहीं थी. पर, नीतीश कुमार ने एक बार में शराबबंदी कर दी.
 
यह समाज के सामने अनूठा उदाहरण है. इस तरह की हिम्मत कम लोग ही दिखाते हैं. समाज को अच्छा बनाने के लिए अच्छे लोगों का सत्ता में आना जरूरी है. उक्त बातें स्वामी अग्निवेश  ने शुक्रवार को मोतिहारी के एमएस कॉलेज के मैदान में सर्व  सेवा संघ द्वारा आयोजित चंपारण सत्याग्रह शताब्दी सम्मेलन के दूसरे दिन  लोगों को संबोधित करते हुए कहीं. उन्होंने कहा कि  गांधी दर्शन ईश्वर दर्शन है. गांधी ईश्वर के उपासक थे. उन्होंने कभी भी मूर्ति की पूजा नहीं की. आज धर्म के ठेकेदार भगवान को हाइजैक कर अपनी-अपनी दुकानें चला रहे हैं. धर्म के नाम पर अधंविश्वास बढ़ा है.  उन्होंने कहा कि धर्म के नाम पर हो रहे अंधविश्वास को समाप्त करना होगा. 
 
कृषि को प्रोत्साहित करने की जरूरत : वीएन सिन्हा
 
न्यायमूर्ति वीएन शर्मा ने कहा कि बंधुआ मजदूरी व मानव व्यापार पर रोक लगाने के लिए कृषि को प्रोत्साहित करने की जरूरत है. कृषि को उद्योग से जोड़ा जाए, जिससे किसानों की हालत में सुधार हो सके. उन्होंने कहा कि किसानों की हालत में जब सुधार होगा तब मजदूरों को सम्मानजनक मजदूरी मिल पायेगी और महानगरों के लिए पलायन नहीं होगा. 
 
हिंदू-मुसलिम परिवार के समान : तहसीन अहमद
 
दिल्ली से आये तहसीन अहमद ने कहा कि हिंदुस्तान में हिंदू व मुसलिम एक परिवार के समान है. इसलाम का मानना है कि विकट परिस्थिति आने पर हिंदू-मुसलिम को एक साथ होकर इस पर विचार-विमर्श करना चाहिए. इसलाम को लोग सही ढंग से नहीं समझ पा रहे हैं. गांधी ने इसलाम के महत्व को समझा था. अब समय के साथ मजहब भी बदलने लगा है.

Advertisement

Comments