Advertisement

champaran West

  • Jun 16 2019 1:46AM
Advertisement

अगले वर्ष जुलाई तक हर हाल में तैयार करें भवन

एमजेके अस्पताल: आधे-अधूरे सिटी स्कैन भवन का किया शिलान्यास

बेतिया : स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज के भवन निर्माण में विलंब को गंभीरता से लिया और निर्माण एजेंसी के अधिकारियों को जमकर फटकार लगायी. उन्होंने कहा कि भवन निर्माण में किसी तरह का विलंब बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. हर हाल में 2020 के जुलाई तक निर्माण पूरा करने का उन्होंने कड़े निर्देश निर्माण एजेंसी के पदाधिकारियों को दिये.
 
बेतिया पहुंचे प्रधान सचिव श्री कुमार मेडिकल कॉलेज के निर्माणाधीन भवनों का निरीक्षण कर रहे थे. प्रधान सचिव ने इस क्रम में सीटी स्कैन का शुभारंभ तो किया लेकिन इसके भवन को आधे-अधूरे देखकर बिफर पड़े. उन्होंने कहा कि आधे अधूरे निर्माण हुआ था तो 
 
प्रधान सचिव ने कॉलेज भवन के निरीक्षण के दौरान कॉलेज परिसर में सड़कों पर जलजमाव व बह रहे पानी को गंभीरता से लेते हुए कहा कि ऐसे कार्य नहीं चलेगा. पानी का दुरुपयोग व मरीजों के इलाज के स्थल पर कीचड़ व संक्रमण का खतरा किसी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जायेगी.
 
उन्होंने मेडिकल कॉलेज के सभी निर्माणाधीन भवनों का बारी-बारी से जायजा लिया और कहा कि भवनों के निर्माण में गुणवत्ता व प्राक्कलन के नियमों के पालन में किसी तरह की कोताही नहीं होनी चाहिए. इस दौरान उन्होंने निर्माण एजेंसी के अधिकारियों से विभिन्न विभागों, वार्डों व मेडिकल कॉलेज के लिए आवश्यक अत्याधुनिक व सुसज्जित भवनों के बाबत जानकारी ली. साथ ही प्राचार्य को कई आवश्यक निर्देश भी दिये. 
 
प्रधान सचिव ने प्राचार्य समेत कॉलेज सह अस्पताल तथा निर्माण एजेंसी के विभिन्न पदाधिकारियों के साथ बैठक की और इस दौरान निरीक्षण में मिली तमाम कमियों को युद्धस्तर पर पूरा करने का फरमान जारी किया. प्रधान सचिव ने कहा कि एमसीआई की ओर से जो भी कमियां गिनायी गयी है, उन्हें शीघ्र पूरा किया जायेगा. किसी भी हाल में जुलाई 2020 तक भवन का निर्माण कर कॉलेज को सुपुर्द कर देना है. कॉलेज में जो भी कमियां देखी, उनमें सुधार का निर्देश प्राचार्य डॉ विनोद प्रसाद को दिया.
 
उन्होंने कहा कि एमजेके अस्पताल को मेडिकल कॉलेज के अधीन कर दिया गया है. वहीं इंटर्नशिप के छात्रों ने अपनी मांगों संबंधी ज्ञापन प्रधान सचिव को सौंपा. मौके पर सिविल सर्जन डॉ अरुण कुमार सिन्हा, एसडीएम विद्यानाथ पासवान, एसीएमओ, अस्पताल अधीक्षक डॉ. डीएन ठाकुर, उपाधीक्षक डॉ. श्रीकांत दूबे समेत अन्य मौजूद रहे.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement