Advertisement

Celebrity

  • Feb 9 2019 8:00PM

Sridevi की जगह लेकर माधुरी दीक्षित ने कही यह बात, कभी ऐसी थी Rivalry

Sridevi की जगह लेकर माधुरी दीक्षित ने कही यह बात, कभी ऐसी थी Rivalry
फोटो सोशल मीडिया से साभार.

बॉलीवुड सहित कई भाषाओं की फिल्मों की ख्यातिप्राप्त एक्ट्रेस श्रीदेवी को यह दुनिया छोड़े लगभग एक साल का समय होने जा रहा है. लेकिन उनके फैंस के लिए अब भी यह स्वीकार करना मुश्किल हो रहा है कि भारतीय सिनेमा जगत की मशहूर अदाकारा श्रीदेवी इस दुनिया में नहीं रहीं.

 

वह अभिषेक वर्मन के निर्देशन में बन रही फिल्म 'कलंक' में काम करने वाली थीं, लेकिन उनके इस दुनिया से विदा होने के बाद फिल्ममेकर्स को उनके रोल के लिए किसी और को कास्ट करना था. अभिषेक ने बहुत सोच-समझ कर इस किरदार के लिए 51 वर्षीय माधुरी दीक्षित को कास्ट किया.

बॉलीवुड की 'धक-धक' गर्ल माधुरी दीक्षित इन दिनों अपनी अपमकिंग फिल्म टोटल धमाल के प्रमोशन में बिजी हैं. ऐसे ही एक मौके पर उन्होंने बताया कि श्रीदेवी इस दुनिया में नहीं हैं, इस बात पर विश्वास करना और कलंक में उन्हें रिप्लेस करना उनके लिए बेहद मुश्किल था.

इस बारे में उन्होंने बताया, जो कुछ भी हुआ उसे मानने में वक्त लगा. यह बहुत ही शॉकिंग था. मेरा रिएक्शन था, आप मुझे इस रोल में लेना चाहते हैं? क्योंकि वे भी फंसे हुए थे. उन्हें काम आगे बढ़ाना था. माधुरी ने बताया, एक इंसान के तौर पर इससे डील करना बेहद मुश्किल था. बतौर एक्टर आपको रोल और स्क्रिप्ट पता होता है. यह पूरी तरह से अलग मामला था, लेकिन सच को स्वीकारना बहुत कठिन था.

वहीं, आपको याद दिला दें कि श्रीदेवी की असमय मौत के बाद उनकी बेटी जाह्नवी कपूर ने इंस्टाग्राम हैंडल पर अपनी मां का रोल लेने के लिए श्रीदेवी का शुक्रिया अदा किया था. उन्होंने लिखा था, अभिषेक वर्मन की अगली फिल्म मेरी मां के दिल के काफी करीब थी. डैड, खुशी और मैं माधुरीजी के शुक्रगुजार हैं कि अब वह इस खूबसूरत फिल्म का हिस्सा हैं.

बता दें कि 24 फरवरी 2018 को श्रीदेवी की बाथटब में डूबने से मौत हो गयी थी. वह एक शादी समारोह को अटेंड करने के लिए दुबई गयी हुई थीं, जहां यह दुखद घटना घटी.

Rivalry की बात...
आपको याद होगा कि बॉलीवुड में एक दौर ऐसा था जब श्रीदेवी सफलता के परचम लहरा रही थीं. उनकी फिल्में लगातार सफलता हासिल कर रही थी और कई फिल्मों वे 'हीरो' हुआ करती थीं. हीरो का रोल नाम भर के लिए होता था. श्रीदेवी के तब ऐसी चलती थी कि वह तब के सुपरस्टार अमिताभ बच्चन के साथ फिल्मों में उनकी बराबरी का रोल डिमांड करने लगी थीं. इसी शर्त पर वे 'खुदा गवाह' के लिए राजी हुई थीं.

तब फिल्मों में श्रीदेवी के सरपट दौड़ रहे सफलता के रथ को माधुरी नाम की आंधी ने रोकने की कोशिश की. माधुरी दीक्षित 'एक-दो-तीन' करते हुए तेजी से आगे बढ़ीं और उनका कद श्रीदेवी के बराबर हो गया. दोनों में नंबर वन सिंहासन को लेकर खींचतान चलती रही. कभी श्रीदेवी आगे तो कभी माधुरी.

बोनी कपूर से शादी के बाद श्रीदेवी ने फिल्मों से किनारा कर लिया. कुछ साल बाद माधुरी ने भी यही किया और डॉ श्रीराम नेने से विवाह रचाकर अमेरिका में जाकर बस गयीं.

Advertisement

Comments

Advertisement