Advertisement

calcutta

  • Sep 12 2019 8:14AM
Advertisement

पश्‍चिम बंगाल में मॉब लिंचिंग: बच्चा चोर के संदेह में पीट पीटकर हत्या, बिजली के खंभे में बांधकर बुरी तरह पीटा

पश्‍चिम बंगाल में मॉब लिंचिंग: बच्चा चोर के संदेह में पीट पीटकर हत्या, बिजली के खंभे में बांधकर बुरी तरह पीटा

-उन्मादी भीड़ ने नहीं दिया पीड़ित को अपनी बात रखने का मौका

आसनसोल/रूपनारायणपुर : सालानपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत बनजेमारी कोलियरी के पुराना कांटा घर के पास बच्चा चोर के संदेह में स्थानीय उन्मादी लोगों की भीड़ ने 35 वर्षीय युवक की पीट-पीट कर हत्या कर दी. इसके पहले उसे बिजली के खंभे में बांधकर उसकी बुरी तरह पिटाई की गयी. पुलिस अधिकारियों ने उसे मुक्त कराया. लेकिन उन्मादी युवकों ने उसे पुलिस के हाथों से छीन लिया. उसकी छाती पर आठ-आठ युवक कूदते रहे. उसके बेहोश हो जाने के बाद भी उसकी पिटाई जारी रही. पत्थरों से भी हमले किये गये.
 
पुलिस  किसी तरह उसे निकाल कर आसनसोल जिला अस्पताल ले गयी. चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. पुलिस उपायुक्त (स्पेशल ब्रांच) कुमार गौतम, अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (वेस्ट) अनामित्र दास, सहायक पुलिस आयुक्त (वेस्ट) शांतब्रत चंद आदि सालानपुर थाना पहुंचे और घटना की जानकारी ली. मृतक की पहचान नहीं हो सकी है. अज्ञात हमलावरों के खिलाफ पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की है. पुलिस आयुक्त देवेंद्र प्रकाश सिंह ने घटना को दुःखद बताते हुए कहा कि पुलिस कार्यवाई कर रही है.कांड में लिप्त एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है. सभी आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी होगी.

पुलिस आयुक्त ने लोगों से की अपील
पुलिस आयुक्त देवेंद्र प्रकाश सिंह ने मॉब लिंचिंग की इस घटना को दु:खद बताते हुए लोगों से अपील की कि किसी तरह की अफवाह पर ध्यान न दें. यदि कुछ संदेहास्पद लगता है तो तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दें. कानून को अपने हाथ में न लें. एक अनजान व्यक्ति को मारकर खुद अपराधी न बनें. उन्होंने कहा कि इस मामले में सभी आरोपियों की गिरफ्तारी की जायेगी.
 
बिजली के खंभे से बांध कर पीटा
बनजेमारी रेलफाटक से सालानपुर थाना जाने के क्रम में सौ मीटर की दूरी पर ही स्थानीय कुछ युवकों ने एक व्यक्ति को संदेहास्पद स्थिति में देखा. युवकों ने उससे पूछताछ शुरू की. घबड़ाया युवक सही जवाब नहीं दे पा रहा था. इसके कारण युवकों का उन्माद बढ़ने लगा और उन्होंने बच्चा चोर होने के संदेह में उसकी पिटाई शुरू कर दी. इधर, बच्चा चोर के पकड़े जाने की सूचना के बाद भीड़ बढ़ने लगी. उक्त युवक को वहां से बनजेमारी पुराना कांटा घर के पास लाया गया तथा बिजली के खंभे से बांध दिया गया. इसके बाद उसकी और बुरी तरह पिटाई शुरू हो गयी. उसके सिर को लोहे के खंभे में लगातार पटका जा रहा था. रक्तरंजित वह युवक चिल्लाता रहा कि वह बच्चा चोर नहीं हैं. लेकिन उन्मादी युवक उसकी कुछ सुनने को तैयार नहीं थे. वह बेहोश होकर गिर गया. सूचना मिलने के बाद पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे तथा उन्होंने भीड़ से पीड़ित को मुक्त कराया. जब वे उसे लेकर अपने वाहन पर चढ़ाने लगे तो उन्मादी युवकों ने पुलिसकर्मियों से उसे पुन: छीन लिया तथा उसकी पिटाई करने लगे. जब उन्हें यकीन हो गया कि उसकी मौत हो चुकी है तो उन्होंने उसे छोड़ा. पुलिस अधिकारी उसे लेकर आसनसोल जिला अस्पताल पहुंचे जहां जाच के बाद चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. देर शाम तक उसकी पहचान नहीं हो पायी थी.  
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement